बरसों से एक ही जगह जमे कई डॉक्टरों पर गिरी ट्रांसफर की गाज
बरसों से एक ही जगह जमे कई डॉक्टरों पर गिरी ट्रांसफर की गाज

बरसों से एक ही जगह जमे कई डॉक्टरों पर गिरी ट्रांसफर की गाज

बरसों से एक ही जगह जमे कई डॉक्टरों पर गिरी ट्रांसफर की गाज

स्वास्थ्य सचिव का हेल्थ सेंटरों में औचक निरीक्षण के बाद खामियां मिलने के बाद सख्त एक्शन

-12 एसएमओ व एमओ इधर से उधर, कुछ को नहीं हुआ था एक ही स्थान पर ज्यादा समय

चंडीगढ़, 25 मई (साजन शर्मा)

स्वास्थ्य विभाग में कई सालों से एक ही जगह जमे अफसरों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है। स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग ने बीते दिनों कई हेल्थ सेंटरों का औचक निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने पाया कि कई डॉक्टर एक ही सेंटर में बीते 20 से 22 सालों से जमे हुए हैं। इसका उन्होंने कड़ा संज्ञान लिया और तुरंत ही इस तरह एक जगह बरसों से तैनात मेडिकल अफसरों को तुरंत बदलने के आदेश जारी किये।

इसी कड़ी में हेल्थ डायरेक्टर ने बुधवार को 12 डाक्टरों के तबादले कर दिये। इन मेडिकल अफसरों को तत्काल प्रभाव से उनके स्थान से बदल कर दूसरे स्थान पर ट्रांसफर की गई है।

सेक्टर 19 के हेल्थ सेंटर में करीब 25 साल से जमी सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. परमज्योति का गवर्नमेंट मल्टी स्पेशियेल्टी अस्पताल सेक्टर 16 में तबादला कर दिया गया है। डॉ. परमज्योति यहां 11 सितंबर 1997 से तैनात थी। सीनियर मेडिकल अफसर के पद पर तैनात डॉ. मोनिका धीर 30 जनवरी 2006 से यहां पर जमी हुई थी। करीब 16 साल बाद उनका तबादला भी सेक्टर 16 के जीएमएसएच में कर दिया गया है। सेक्टर 38 की एसएमओ डॉ. अपर्णा शर्मा का तबादला भी सेक्टर 16 के जीएमएसएच में कर दिया गया है। वह यहां 29 दिसंबर 2020 से ही तैनात थी। बुड़ैल की मॉडल जेल में करीब 8 साल से तैनात डॉ. नीना चौधरी जो एसएमओ के पद पर हैं का तबादला सिविल अस्पताल, मनीमाजरा में कर दिया गया है। 11 साल से सेक्टर 23 की डिस्पेंसरी में तैनात एसएमओ डॉ. अंशु वसेसी का तबादला सिविल अस्पताल सेक्टर 22 में कर दिया गया है।

केसुएल्टी विभाग में 12 अगस्त 2021 से तैनात मेडिकल अफसर डॉ. गुरनाम का तबादला हेल्थ वेलफेयर सेंटर, सेक्टर 20 में कर दिया गया। एनएचएम में तैनात डॉ. अशिता जो 11 मार्च से यहां तैनात थी का तबादला हेल्थ वेलफेयर सेंटर, सेक्टर 19 में कर दिया गया है। लगभग 10 साल से कैंबवाला के हेल्थ केयर सेंटर में तैनात रही मेडिकल अफसर डॉ. हरलीन टिवाना को हाईकोर्ट की डिस्पेंसरी में भेजा गया है। एनएचएम में तैनात डॉ. अंकुर ओबराय जो करीब आठ साल यानि 23 सितंबर 2013 से सिविल अस्पताल, सेक्टर 22 में तैनात थे को कैंबवाला के हेल्थ सेंटर में बदला गया है। सेक्टर 23 की डिस्पेंसरी में 23 सितंबर 2019 से तैनात डॉ. पूनम सहगल को हेल्थ सेंटर सेक्टर 23 का चार्ज भी दिया गया है। हेल्थ सेंटर, सेक्टर 20 में तैनात मेडिकल अफसर डॉ. जेपी बंसल को मॉडल जेल, बुड़ैल में बदला गया है। इसी तरह सेक्टर 29 की डिस्पेंसरी में 15 मार्च 2013 से तैनात डॉ. मीनाक्षी खन्ना को सेक्टर 38 की डिस्पेंसरी में भेजा गया है। इन अफसरों को वीरवार सुबह अपनी नई पोस्टिंग पर ज्वाइन करना होगा। अगर कोई पुरानी पोस्टिंग वाली जगह पहुंचता है तो ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। साथ ही यह हिदायत भी दी गई है कि किसी ने ट्रांसफर रुकाने के लिए अगर कोई सिफारिश या दबाव डलवाया तो उसके खिलाफ भी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।