विजीलैंस ब्यूरो ने ए. एस. आई और प्राईवेट व्यक्ति को 5000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया
विजीलैंस ब्यूरो ने ए. एस. आई और प्राईवेट व्यक्ति को 5000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया

विजीलैंस ब्यूरो ने ए. एस. आई और प्राईवेट व्यक्ति को 5000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया

विजीलैंस ब्यूरो ने ए. एस. आई और प्राईवेट व्यक्ति को 5000 रुपए रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया

चंडीगढ़ 17 सितम्बर:
मुख्यमंत्री पंजाब भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की तरफ से भ्रष्टाचार के विरुद्ध अपनाई गई ज़ीरो सहनशीलता की नीति को मुख्य रखते हुये पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने अपनी चल रही मुहिम के दौरान एक प्राईवेट व्यक्ति करमजीत सिंह कम्मा को बिजली चोरी के विरुद्ध पुलिस थाना, पी. एस. पी. सी. एल., लुधियाना में तैनात ए. एस. आई हरप्रीत सिंह की तरफ़ से 5000 रुपए की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये पंजाब विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि मुलजिम एएसआई हरप्रीत सिंह और करमजीत सिंह को तरलोचन सिंह निवासी मंडी गोबिन्दगढ़, जि़ला फतेहगढ़ साहिब की शिकायत पर गिरफ़्तार किया गया है।
प्रवक्ता ने बताया कि शिकायतकर्ता ने विजीलैंस ब्यूरो के पास पहुँच करके दोष लगाया है कि उक्त ए. एस. आई. उसके घरेलू बिजली चोरी केस को निपटाने के लिए 15,000 रुपए की रिश्वत की माँग कर रहा था परन्तु सौदा 5000 रुपए में हुआ है।
प्रवक्ता ने आगे बताया कि शिकायतकर्ता की तरफ से पेश किये तथ्यों की जांच के उपरांत विजीलैंस ब्यूरो की टीम ने एएसआई के मध्यस्थ के तौर पर एक प्रायवेट व्यक्ति करमजीत सिंह को दो सरकारी गवाहों की हाजिऱी में शिकायतकर्ता से एएसआई हरप्रीत सिंह की की तरफ़ से 5000 रुपए की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया गया।
उन्होंने आगे बताया कि इस सम्बन्ध में एफ. आई. आर. नम्बर 15 तारीख़ 16. 09. 2022 के अंतर्गत भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा 7,7ए के अंतर्गत विजीलैंस थाना फलायंग सकुऐड-1 पंजाब एस. ए. एस. नगर में दर्ज किया गया है और इस सम्बन्धी आगे कार्यवाही जारी है।