सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में बड़ी सफलता: सिंगर को गोलियों से छलनी करने वाले दो शूटर पकड़ में आये, पंजाब पुलिस ने नहीं यहां की पुलिस ने दबोचा
Delhi Police Special Cell arrested shooter Priyavrat Fauji and Kashis

Delhi Police Special Cell arrested shooter Priyavrat Fauji and Kashis

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में बड़ी सफलता: सिंगर को गोलियों से छलनी करने वाले दो शूटर पकड़ में आये, पंजाब पुलिस ने नहीं यहां की पुलिस ने दबोचा

Sidhu Moose Wala Murder Case: मशहूर पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की गोलियां मारकर हत्या करने के मामले में दिल्ली पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है| दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सिंगर को गोलियों से छलनी करने वाले दो शूटरों को गिरफ्तार किया है| इसके अलावा इनके साथ इनके एक सहयोगी की भी गिरफ्तारी हुई है| तीनों को गुजरात के मुंद्रा से गिरफ्तार किया गया है| तीनों की पहचान प्रियव्रत फौजी, कशिश और केशव के रूप में है|

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के अनुसार, इनके पास हथियार और विस्फोटक सामग्री की भारी मात्रा में बरामदगी हुई है| इनके पास से अंडर बैरल ग्रेनेड लॉन्चर के साथ 8 हाई एक्सप्लोसिव ग्रेनेड मिले हैं। यह ग्रेनेड लॉन्चर AK-47 पर भी लगाया जा सकता है। इसके अलावा 9 इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर, एक असॉल्ट राइफल 20 राउंड के साथ और इसके अतिरिक्त 3 पिस्तौल और कई कारतूस बरामद किये गए हैं|

6 शूटरों ने सिद्धू मूसेवाला को मारा ....

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जानकारी दी कि सिद्धू मूसेवाला को मारने में 6 शूटर शामिल थे| जिनमें से दो को प्रियव्रत फौजी, कशिश को गिरफ्तार कर लिया गया है| स्पेशल सेल ने बताया कि, सिद्धू मूसेवाला को मारने में जिन दो कारों कोरोला और बोलेरो का इस्तेमाल हुआ उनमें से एक बोलेरो कार के ग्रुप का हेड प्रियव्रत फौजी था जबकि दूसरी कोरोला कार के ग्रुप का हेड मनप्रीत मन्नू था| बोलेरो कार में प्रियव्रत फौजी, कशिश(गाड़ी चला रहा था), अंकित सिरसा, दीपक मुंडी सहित कुल चार लोग सवार थे| जबकि कोरोला कार में मनप्रीत मन्नू, जगरूप रूपा( गाड़ी चला रहा था) सहित दो लोग थे|

स्पेशल सेल ने बताया कि AK-47 से पहली जबरदस्त फायरिंग मनप्रीत मन्नू ने की| जिसके बाद सिद्धू मूसेवाला की कार रुक गई और इसके बाद फिर सभी शूटरों ने गाड़ियों से उतरकर सिद्धू पर एक AK-47 सहित तमाम पिस्टलों से ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं| दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक और जानकारी दी है कि मनप्रीत मन्नू और प्रियव्रत फौजी डायरेक्ट कनाडा बैठे गोल्डी बराड़ के सम्पर्क में थे|

लॉरेंस बिश्नोई गैंग का है गोल्डी बराड़....

बतादें कि, लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने सिद्धू मूसेवाला को मारा है| गोल्डी बराड़ लॉरेंस बिश्नोई गैंग को ऑपरेट कर रहा है| लॉरेंस बिश्नोई इस समय पंजाब पुलिस के कब्जे में है| पंजाब पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई को रिमांड पर लिया हुआ है| ज्ञात रहे कि, 29 मई को 28 साल के सिद्धू मूसेवाला (Punjab Famous Singer Sidhu Moose Wala) की मानसा जिले के जवाहर गांव के नजदीक हत्या कर दी गई थी|