01-Himachal

हिमाचल में मानसून के दौरान अबतक 90 लोगों की मौत, देखें कितना हुआ नुकसान

शिमला। हिमाचल में मानसून की बारिश खूब तबाही मचा रही है। इस सीजन में अब तक विभिन्न कारणों से 90 लोगों की जान जा चुकी है। 362 करोड़ रुपए की सरकारी व गैर सरकारी संपत्ति बारिश की भेंट चढ़ चुकी है। अकेले पीडब्ल्यूडी को 236 करोड़ और जल शक्ति विभाग को 111 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। बारिश से उत्पन्न हुई आपदाओं से लोगों के 73 पालतू मवेशी भी मारे जा चुके हैं।

बारिश ने दर्जनों लोगों से उनका आशियाना भी छीन लिया है। अब तक 8 पक्के व 20 कच्चे मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त और 20 पक्के 72 कच्चे मकानों को बारिश से आंशिक क्षति हुई है। प्रदेशभर में 12 दुकानें, 4 लेबर शेड, 91 गऊशालाएं तथा 7 घाट भी बारिश से तबाह हुए हैं।

प्रदेश के कई ग्रामीण इलाकों में बारिश से सडक़ों का नामों निशान तक मिट गया है। इस वजह से सेब व दूसरी फसलों को मंडियों तक पहुंचाना मुश्किल हो गया है। भूस्खलन के कारण लोगों के खेत और उनमें लगी फसलों को भी नुकसान पहुंचा है। बीते 24 घंटे की बारिश से प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में 31 सडक़ें, 91 बिजली के ट्रांसफॉर्मर और 21 पेयजल योजनाएं बंद पड़ी हैं।

प्रदेश में सतलुज नदी और टांडी नाले को छोडक़र सभी नदियों व खड्डों का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे है। हालांकि बीते कल सतलुज का जलस्तर काफी बढ़ गया था। इसे देखते हुए कड़छम बांध से 100 क्यूसेक पानी छोड़ा जाना था। इसके बाद सतलुज का जलस्तर और ज्यादा बड़ गया था। आज सुबह से सतलुज का जलस्तर थोड़ा सामान्य होने लगा है।

प्रदेश में मानसून अब सामान्य रफ्तार पकडऩे लगा है। जुलाई के पहले 17 दिन में सामान्य से 23 फीसदी ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है। वहीं मानसून सीजन यानी एक जून से 17 जुलाई के बीच अभी भी सामान्य से 2 फीसदी कम बारिश हुई है। इस अवधि में आमतौर पर राज्य में 230.1 मिलीमीटर बारिश होती है, लेकिन इस बार 225.1 मिलीमीटर बारिश हुई है।

मौसम विभाग ने आगामी तीन दिन के दौरान प्रदेश के कई इलाकों में अच्छी बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार, आज दोपहर बाद कांगड़ा के शाहपुर, कांगड़ा, नगरोटा, ज्वालामुखी में बारिश होने के 90 फीसदी से ज्यादा आसार हैं।

कल रात नादौन व फतेहपुर में होगी बारिश

कल यानी मंगलवार को दोपहर बाद कुल्लू, बुधवार को दिन के वक्त कुमारसैन, रात को नादौन व फतेहपुर तथा गुरुवार को मंडी के थुनाग में दिन के वक्त, दुर्गम क्षेत्र डोडराक्वार, शिमला शहरी, शिमला ग्रामीण, ठियोग, कंडाघाट, सिरमौर के पच्छाद में बारिश होने के आसार 90 फीसदी से अधिक हैं। कुछ इलाकों में भारी बारिश भी हो सकती है। इसलिए लोगों को नदी नालों के समीप नहीं जाने की सलाह दी गई है।