आज हरिद्वार में पुलिस अलर्ट, मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों पर पैनी नजर
आज हरिद्वार में पुलिस अलर्ट

आज हरिद्वार में पुलिस अलर्ट, मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों पर पैनी नजर

आज हरिद्वार में पुलिस अलर्ट, मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों पर पैनी नजर

हरिद्वार. बीते सप्ताह जुमे की नमाज़ के बाद कई जगहों पर हुई हिंसा के बाद हरिद्वार पुलिस भी अलर्ट मोड पर है. पुलिस ने मस्जिदों के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. यही नहीं, नमाज़ से एक दिन पहले ही यहां सभी थाना क्षेत्रों में पुलिस ने धर्मगुरुओं के साथ बैठक कर क्षेत्र में शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की. वहीं, मिश्रित आबादी वाले इलाकों पर खास तौर से नज़र रखे जाने की व्यवस्था है. साथ ही, नूपुर शर्मा के बयान के बाद छिड़े विवाद के मद्देनज़र सोशल मीडिया पर भी पुलिस निगरानी रख रही है.

हरिद्वार के ज्वालापुर, श्यामपुर, रानीपुर और कनखल के क्षेत्रों में अतिरिक्त सुरक्षा बरती जा रही है. इसके साथ ही, खुफिया तंत्र को भी अलर्ट कर दिया गया है. संवेदनशील स्थानों पर पुलिस चौकसी बढ़ाने के अलावा पीस कमेटी का गठन भी कराया गया है. सिटी एसपी स्वतंत्र कुमार ने साफ चेतावनी दी है कि अगर किसी ने भी कानून हाथ में लेने की कोशिश की, तो उसे बख्शा नही जाएगा. रुड़की और देहात में भी जुमे की नमाज़ को लेकर गुरुवार को पुलिस गश्त और गतिविधियों की निगरानी करती रही.

क्यों अलर्ट मोड पर है हरिद्वार पुलिस?
भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की पैगंबर साहब पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर पिछले दिनों खासा बवाल रहा. इसी विवाद के बीच पिछले जुमे की नमाज़ के दौरान उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड जैसे राज्यों में कुछेक स्थानों पर पत्थरबाज़ी व हंगामे की खबरें रहीं. हरिद्वार के करीबी ज़िले सहारनपुर में भी बीते जुमे को सड़कों पर बवाल की स्थिति बनी. वहीं, हरिद्वार ही उत्तराखंड का वह ज़िला है, जहां राज्य की सबसे ज़्यादा मुस्लिम आबादी है. इन तमाम कारणों से ज़िले की पुलिस शांति व्यवस्था के लिए मुस्तैद है.