Desh ke Rakshak Tujhe Salaam: स्पीकर ने किया ‘देश के रक्षक तुझे सलाम’ का विमोचन
Desh ke Rakshak Tujhe Salaam: स्पीकर ने किया ‘देश के रक्षक तुझे सलाम’ का विमोचन

Desh ke Rakshak Tujhe Salaam: स्पीकर ने किया ‘देश के रक्षक तुझे सलाम’ का विमोचन

Desh ke Rakshak Tujhe Salaam: स्पीकर ने किया ‘देश के रक्षक तुझे सलाम’ का विमोचन

सुदेश मोदगिल ‘नूर' ने सैनिकों के सम्मान में लिखा है काव्य संग्रह

चंडीगढ़, 4 अगस्त: Desh ke Rakshak Tujhe Salaam: हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने वीरवार को सुप्रसिद्ध साहित्यकार सुदेश मोदगिल 'नूर' द्वारा शहीदों पर लिखी पुस्तक ‘देश के रक्षक तुझे सलाम’ का विमोचन किया। इस पुस्तक में वीर सैनिकों को समर्पित 400 पंक्तियों की कविता मुख्य आर्कषण का केंद्र है। इसके साथ ही पाठकों में देशभक्ति का ज्वार जगाने के लिए 30 देशभक्ति गीत लिखे गए हैं। सुदेश मोदगिल ‘नूर' पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में लेक्चरार रही हैं।

Desh ke Rakshak Tujhe Salaam: ‘नूर' की यह 20वीं पुस्तक है

इस पुस्तक से होने वाली पूरी आय सैनिकों के कल्याण पर खर्च की जा रही है। पुस्तक से अभी तक हुई आय से संबंधित 40 हजार रुपये का चेक भी उन्होंने विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता को सौंपा। गुप्ता ने यह चेक सैनिक कल्याण बोर्ड को भिजवा दिया है। इससे पूर्व ‘नूर’ द्वारा लिखी गई 19 पुस्तकों की आय वृद्धाश्रमों को समर्पित की जा चुकी है।

गुप्ता ने बताया कि पंचकूला में शहीदों के सम्मान के लिए बड़े स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। सभी सामुदायिक केंद्रों का नामकरण शहीदों के नाम पर किया जा रहा है। इसके साथ 4 प्रमुख शहीद स्मारकों के रखरखाव के लिए विशेष कमेटियां बना दी गई हैं। इन कमेटियों में नगर निगम के अधिकारी, आरडब्ल्यूए पदाधिकारी तथा शहीदों के परिजनों को शामिल किया गया है। इस अवसर पर सुदेश मोदगिल ‘नूर' के पुत्र अनुराग मौदगिल और अभिषेक मौदगिल भी मौजूद रहे।