Anti Gangster Campaign in Punjab: पंजाब में गैंगस्टर विरोधी मुहिम को मिली एक और बड़ी सफलता
Anti Gangster Campaign in Punjab: पंजाब में गैंगस्टर विरोधी मुहिम को मिली एक और बड़ी सफलता

Anti Gangster Campaign in Punjab: पंजाब में गैंगस्टर विरोधी मुहिम को मिली एक और बड़ी सफलता

Anti Gangster Campaign in Punjab: पंजाब में गैंगस्टर विरोधी मुहिम को मिली एक और बड़ी सफलता

रूपनगर पुलिस ने पिन्दरी गैंग के 10 ख़तरनाक गैंगस्टर किये काबू
सात ग़ैर कानूनी हथियार और 51 जिंदा कारतूस बरामद
उक्त गैंगस्टर नशा तस्करी में भी रहे शामिल - भुल्लर

चंडीगढ़/ रूपनगर, 08 अगस्तः Anti Gangster Campaign in Punjab: पंजाब पुलिस की तरफ से गैंगस्टरों के खि़लाफ़ शुरू की गई मुहिम को जारी रखते हुये रूपनगर पुलिस द्वारा लारेंस बिशनौयी गैंग से सम्बन्धित पिन्दरी गैंग के 10 ख़तरनाक गैंगस्टरों को गिरफ़्तार किया गया और उनके पास से सात ग़ैर कानूनी हथियार और 51 ज़िंदा कारतूस बरामद किये गए। 

Anti Gangster Campaign in Punjab: एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल (डी. आई. जी.) एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स और रूपनगर रेंज श्री गुरप्रीत सिंह भुल्लर जिनके साथ सीनियर सुपरडैंट आफ पुलिस (एस. एस. पी.) श्री सन्दीप गर्ग भी मौजूद थे, ने बताया कि पुलिस टीम ने गैंग के सरगने परमिन्दर सिंह उर्फ पिन्दरी, जो नंगल-रूपनगर-नूरपुर बेदी पट्टी में बिशनोयी गैंग की कार्यवाही को संभाल रहा था, का पता लगाने के लिए गुप्त सूचना के आधार पर कार्यवाही की। श्री भुल्लर ने बताया कि इस ख़तरनाक गैंगस्टर के खि़लाफ़ पहले ही रूपनगर, हरियाणा, जालंधर और पटियाला के पुलिस स्टेशनों में 22 एफ. आई. आईज़ (जिस में कत्ल की कोशिश सम्बन्धी मामला भी शामिल है) दर्ज है। 
डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल आफ पुलिस ने बताया कि परमिन्दर सिंह लारेंस बिशनोयी गैंग का सक्रिय मैंबर है, जो गिरफ़्तारी से बचने के लिए हिमाचल प्रदेश में छिपा हुआ था और वहाँ से अलग-अलग कार्यवाहियों को अंजाम दे रहा था। उन्होंने कहा कि परमिन्दर सिंह दूसरे अपराधों के अलावा इस क्षेत्र में नशा तस्करी में भी शामिल है। उन्होंने कहा कि इस केस में आगे जांच जारी है। 

Anti Gangster Campaign in Punjab: एस. एस. पी. सन्दीप गर्ग ने बताया

एस. एस. पी. सन्दीप गर्ग ने बताया कि परमिन्दर के इलावा पुलिस की तरफ से अन्य गैंगस्टरों जिसमें बलजिन्दर सिंह उर्फ बिल्ला, गुरदीप सिंह उर्फ गोगी, जसप्रीत सिंह उर्फ मकड़, गुरप्रीत सिंह उर्फ भोलू, इकबाल मुहम्मद, सुरिन्दर सिंह उर्फ छिन्दा, दारा सिंह उर्फ दारा, सुखविन्दर सिंह उर्फ काला और रोबिन सिंह को गिरफ़्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि सात ग़ैर कानूनी हथियार जिसमें .32 बोर के दो देसी पिस्तौल, .30 बोर के दो देसी पिस्तौल, .315 बोर के दो देसी पिस्तौल और .12 बोर के एक देसी पिस्तौल और 51 जिंदा कारतूस और एक मैगज़ीन बरामद किये गए हैं। श्री गर्ग ने कहा कि यह सभी ख़तरनाक अपराधी हैं। उन्होंने बताया कि ख़तरनाक अपराधी पिन्दरी के खि़लाफ़ 22 एफ. आई. आर., बलजिन्दर के खि़लाफ़ दो, गुरप्रीत, जसप्रीत और गुरदीप के खि़लाफ़ एक-एक, इकबाल मुहम्मद के खि़लाफ़ सात, सुरिन्दर के खि़लाफ़ चार और दारा के खि़लाफ़ 24 एफ. आई. आर. दर्ज हैं।