UPI ने मई महीने में बनाया नया रिकॉर्ड, 20.45 ट्रिलियन रुपये का हुआ पेमेंट
BREAKING
जम्मू-कश्मीर में सेना ने आतंकियों का बड़ा हमला रोका; फटाफट एक्शन में आए जवान, ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं, एनकाउंटर जारी सुप्रीम कोर्ट से योगी सरकार को बड़ा झटका; दुकानों पर 'नेम प्लेट' लगाने वाले आदेश पर रोक लगाई, UP समेत 3 राज्यों को नोटिस जारी RSS की गतिविधियों में अब शामिल हो सकेंगे सरकारी कर्मचारी; केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, 58 साल पुराना प्रतिबंध हटाया, कांग्रेस हमलावर "ढाई घंटे तक देश के प्रधानमंत्री का गला घोंटा गया''; संसद के बजट सत्र पर PM मोदी का बयान, पहले ही दिन विपक्ष पर जमकर बरसे चमत्कारिक है भगवान शिव का यह नाम जप; प्रेमानंद महाराज ने बताया- कैसे दिखाता है प्रभाव, महादेव के इस मंत्र को न जपने की दी चेतावनी

UPI ने मई महीने में बनाया नया रिकॉर्ड, 20.45 ट्रिलियन रुपये का हुआ पेमेंट

UPI New Record

UPI New Record

UPI New Record: यूपीआई ने भारत को पूरी दुनिया में एक अलग ही पहचान दिलाई है. कई देशों ने पेमेंट का यह सिस्टम अपने यहां भी लागू किया है. भारतीयों को भी यूपीआई भा गई है. सब्जी, फल और राशन जैसे-जैसे छोटे-छोटे ट्रांजेक्शन से लेकर बड़े पेमेंट के लिए भी आजकल लोग फोन से यूपीआई का ही प्रयोग कर रहे हैं. यही वजह है कि हर महीने यूपीआई ट्रांजेक्शन (UPI Transactions) का आंकड़ा नए-नए रिकॉर्ड बना रहा है. नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने शनिवार को यूपीआई ट्रांजेक्शन का आंकड़ा जारी किया है. इससे पता चला है कि देश में यूपीआई ट्रांजेक्शन का नया रिकॉर्ड बना है. देश में मई में कुल 20.45 ट्रिलियन रुपये के यूपीआई ट्रांजेक्शन हुए हैं. 

मई के दौरान 14.04 अरब यूपीआई ट्रांजेक्शन हुए

एनपीसीआई डेटा के अनुसार, साल 2023 के समान महीने के मुकाबले मई, 2024 में यूपीआई ट्रांजेक्शन का आंकड़ा वॉल्यूम के हिसाब से 49 फीसदी और वैल्यू के हिसाब से 39 फीसदी बढ़ चुका है. मई के दौरान कुल 14.04 अरब यूपीआई ट्रांजेक्शन हुए हैं. इनमें कुल 20.45 अरब रुपये का लेनदेन हुआ है. अप्रैल, 2024 में 13.30 अरब ट्रांजेक्शन हुए थे. इनमें 19.64 ट्रिलियन रुपये का लेनदेन हुआ था. अप्रैल के मुकाबले मई में वॉल्यूम के हिसाब से 6 फीसदी और वैल्यू के हिसाब से 4 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. 

अप्रैल, 2016 में शुरुआत के बाद सबसे बड़ा आंकड़ा पार किया 

देश में यूपीआई की शुरुआत अप्रैल, 2016 में हुई थी. इसके बाद से यह सबसे बड़ा आंकड़ा है. इस दौरान आईएमपीएस ट्रांजेक्शन (IMPS Transaction) भी 1.45 फीसदी की तेजी आई और यह 55.8 करोड़ ट्रांजेक्शन पर पहुंच गया. आईएमपीएस ट्रांजेक्शन के जरिए 6.06 ट्रिलियन रुपये का लेनदेन हुआ है. यह आंकड़ा अप्रैल के 5.92 ट्रिलियन रुपये के मुकाबले 2.36 फीसदी बढ़ा है. मई में फास्टैग ट्रांजेक्शन (FasTag Transaction) भी 6 फीसदी बढ़कर 34.7 करोड़ पर पहुंच गए हैं. आधार से होने वाले पेमेंट AePS में जरूर इस दौरान 4 फीसदी की गिरावट आई और यह 9 करोड़ पर पहुंच गया.