बॉडी को रखना है फिट और एनर्जेटिक, इन Yoga Asanas को करें पिक
बॉडी को रखना है फिट और एनर्जेटिक

बॉडी को रखना है फिट और एनर्जेटिक, इन Yoga Asanas को करें पिक

बॉडी को रखना है फिट और एनर्जेटिक, इन Yoga Asanas को करें पिक

नई दिल्ली। फिट रहना है तो कुछ वक्त तो खुद के लिए निकालना ही होगा। इतना बिजी शेड्यूल है कि 1-2 घंटे भी मैनेज कर पाना मुश्किल है तो बस 10 मिनट तो निकाल ही सकते हैं और ज्यादा नहीं इन तीन योगासनों का ही अभ्यास करें। जो देंगे आपको दिनभर काम करने के लिए एनर्जी के साथ फिट बॉडी और फ्लैट टमी भी। जान लें इनके बारे में..

1. भुजंगासन

कैसे करें भुजंगासन?

- भुजंगासन करने के लिए मैट पर पेट के बेल लेट जाना है।

- दोनों हथेलियों को सीने के पास रखें, माथे को मैट पर स्पर्श कराएं और पैर के पंजे बिल्कुल जमीन से लगे रहें।

- अब लंबी गहरी सांस भरते हुए अपर बॉडी को ऊपर की ओर उठाएं। नाभि से नीचे का हिस्सा मैट पर ही लगा होना चाहिए। सिर को ऊपर आसमान की ओर तानें।

- सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे बॉडी पर मैट पर ले आएं। रिलैक्स करें और तीन से पांच बार इसे दोहराएं।

फायदे

ये आसन पीठ दर्द के लिए बहुत ही फायदेमंद है और इससे पेट पर जमी चर्बी भी कम होती है।

2. मत्स्यासन

कैसे करें मत्सयासन?

- अपनी पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं।

- अब अपना वजन दोनों कोहनियों पर डालते हुए छाती को ऊपर उठाएं और सिर के पीछे वाले हिस्से को जमीन से छूने दें।

- कुछ सेकेंड तक इस स्थिति में बने रहें फिर धीरे-धीरे सिर को रिलैक्सिंग पोजिशन में ले आएं।

फायदे

ये आसन थायरॉइड ग्लैंड को एक्टिव कर उसके फंक्शन को सही रखता है। लोअर बैक पेन में राहत दिलाता है और साथ ही पाचन क्रिया को दुरुस्त रखता है।

3. वृक्षासन

कैसे करें वृक्षासन?

- दोनों पैरों पर सीधे खड़े हो जाएं जिससे कंधे और हिप एक सीधी लाइन में रहें।

- यहां से अपने एक पैर पर सारा वजन डालते हुए दूसरे पैर को उठाकर जो पैर जमीन पर है उसकी जांघों पर टिकाएं।

- लंबी गहरी सांस भरते हुए दोनों हाथों को ऊपर उठाते हुए या फिर सीने के सामने नमस्कार मुद्रा में जोड़ लें या फिर सिर के ऊपर।

- धीरे-धीरे सांस लें और छोड़ते रहें। अपनी क्षमतानुसार इस आसन में रहें फिर आरामदायक मुद्रा में आ जाएं।

फायदे

ये आसन ध्यान और संतुलन बढ़ाने में बहुत ही फायदेमंद होता है। इस आसन के अभ्यास से पैरों की मसल्स स्ट्रॉन्ग होती हैं। किसी तरह का दर्द हो तो दूर होता है साथ ही ऑर्थराइटिस जैसी बीमारियों से भी राहत मिलती है।