विवेक हाई स्कूल की मॉडल यूनाइटेड नेशंस कांफ्रेंस संपन्न, इस दौरान कैसी रही छात्रो की प्रतिक्रिया देखे अर्थ प्रकाश की खास ख़बर पर

Punjab CM

विवेक हाई स्कूल की मॉडल यूनाइटेड नेशंस कांफ्रेंस संपन्न, इस दौरान कैसी रही छात्रो की प्रतिक्रिया देखे अर्थ प्रकाश की खास ख़बर पर

Model United Nations Conference of Vivek High School concluded

Model United Nations Conference of Vivek High School concluded, how was the reaction of the students

अवैध रेत खनन के खिलाफ लड़ने वाली आईएएस दुर्गा शक्ति नागपाल ने विवेक यूएन सम्मेलन में भाग लिया                             

छात्र प्रतिनिधियों ने सामूहिक रूप से ज्वलंत वैश्विक मुद्दों के स्थायी समाधानों पर काम किया

चंडीगढ़: विवेक हाई स्कूल (Vivek High School) के मॉडल यूनाइटेड नेशंस (VHSMUN) सम्मेलन का 7वां संस्करण यहां विवेक हाई स्कूल में संपन्न हुआ। 4 दिवसीय सम्मेलन में दुनिया भर के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करने के लिए कई सत्र आयोजित हुए, जिनमें यूक्रेन पर रूसी आक्रमण, डेटा संरक्षण अधिनियम, अग्निपथ योजना, सशस्त्र संघर्ष में निजी सेना और सुरक्षा कंपनियों की भूमिका, तथा अंतरिक्ष अन्वेषण जैसे मुद्दे प्रमुख थे। समापन समारोह का मुख्य आकर्षण थीं प्रतिष्ठित आईएएस अधिकारी, श्री मति दुर्गा शक्ति नागपाल, जो माफिया सरगनाओं के खिलाफ अभियान छेड़ने के बाद चर्चा में आई थीं। 

IAS अधिकारी ने रखे अपने विचार 
सम्मेलन के 7वें संस्करण के बारे में बात करते हुए, मुख्य अतिथि श्री मति दुर्गा शक्ति ने कहा, "एमयूएन सम्मेलन मनोरंजन के साथ-साथ नया सीखने का यह एक असाधारण मंच है, क्योंकि यह छात्रों को एक-दूसरे से सीखने का अवसर प्रदान करता है। छात्रों को चाहिए कि वे सचेत रूप से सोचें, और जीवन में निर्णय लेने के कौशल, प्रबंधन कौशल तथा नेतृत्व कौशल विकसित करें।" क्योंकि श्री मति दुर्गा शक्ति स्कूल की पुरानी छात्र भी रह चुकी है और अपने पुराने दिनों की यादों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ''आज मैं 20 साल के लंबे समय के बाद स्कूल आई हूं। स्कूल की यादें मेरे दिल में मजबूती से मौजूद हैं। विवेक हाई स्कूल पढ़ाई का एक महान संस्थान है, जिसने मुझे अपने जीवन को आकार देने में मदद की। छात्रों को आधे-अधूरे मन से मेहनत करने के बजाय अपने काम से प्यार करना चाहिए, अपनी यात्रा का आनंद लेना चाहिए और जीवन में सफल होने का प्रयास करना चाहिए।"

स्कूल छात्रो ने प्रस्तुत किया कार्यक्रम
वहीं स्कूल के छात्रों ने एक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया, जिसमें कथक और भरतनाट्यम का फ्यूजन और शास्त्रीय नृत्य रूपों के माध्यम से भारतीय संस्कृति की विविधता का प्रदर्शन शामिल था। सांस्कृतिक कार्यक्रम का समापन पारंपरिक पंजाबी लोक नृत्य भांगड़ा के साथ हुआ। स्कूल बैंड ने अपने मधुर प्रदर्शन से दर्शकों का मन मोह लिया। छात्र प्रतिनिधियों के प्रयास, उत्साह और जुनून की सराहना करते हुए, प्रिंसीपल श्री रेणु पुरी ने कहा, "मैं सभी छात्रों को उनके शोध कार्य, चुनौतियों का सामना करने की भावना और वैश्विक मुद्दों से निपटने के लिए बधाई देती हूं। सम्मेलन के इस संस्करण ने आने वाले कल के कुछ महान वक्ताओं और लीडर्स की एक झलक पेश की। मैं सभी छात्रों को उनके करियर के लिए शुभकामनाएं देती हूं। मैं प्रतिनिधियों को सपोर्ट करने और उनका मनोबल बढ़ाने के लिए दर्शकों को भी धन्यवाद देती हूं।"

अवार्ड से बच्चो की किया सम्मानित 
आयोजन के दौरान, सेंट कबीर, सेक्टर 26, चंडीगढ़ को बैस्ट स्कूल डेलीगेशन घोषित किया गया, जबकि सेक्रेट्री जनरल बैस्ट डेलीगेट अवार्ड सेंट कबीर स्कूल के दक्ष को दिया गया। सम्मेलन के इस संस्करण की 10 नवंबर को शुरुआत हुई थी, जिसे 250 से अधिक छात्र प्रतिनिधियों के साथ जबरदस्त रैस्पोंस मिला। इसमें देश भर के 15 से अधिक स्कूलों का प्रतिनिधित्व रहा।