गत्ता फेक्ट्री में लगी भीषण आग, करोड़ों का हुआ नुक्सान
गत्ता फेक्ट्री में लगी भीषण आग

गत्ता फेक्ट्री में लगी भीषण आग, करोड़ों का हुआ नुक्सान

गत्ता फेक्ट्री में लगी भीषण आग, करोड़ों का हुआ नुक्सान

बहादुरगढ़। बहादुरगढ़ के गांव टांडाहेड़ी में स्थित गत्ता फैक्ट्री में शनिवार की रात भीषण आग लग गई। फैक्ट्री के अंदर केमिकल से भरे ड्रम फट गए। उसी वक्त एक हिस्से में लगभग 20 कर्मचारी भी सोए हुए थे। वे बाल-बाल बच गए। उन्होंने भागकर जान बचाई। तीन जगहों से दमकल दस्ता पहुंचा। सात घंटे में आग बुझाई जा सकी। हालांकि फैक्ट्री से धुआं तो रविवार की शाम तक उठता रहा। घटना में पूरी फैक्ट्री ही आग की भेंट चढ़ गई।

गत्ता और टेप बनाने का काम होता था फैक्ट्री में

टांडाहेड़ी में ढाई एकड़ में यह फैक्ट्री एशियन पैकेजिंग के नाम से चल रही थी। इसमें गत्ता और टेप बनती है। शनिवार रात आठ बजे तक काम चला। उसके बाद फैक्ट्री मालिक संजीव हुड्डा घर चले गए। करीब 20 कर्मचारी यहां पर रुके हुए थे। प्रोडक्शन यूनियन से अलग हिस्से में वे सो रहे थे। करीब 12 बजे जब केमिकल का ड्रम फटा, तब उनकी आंख खुली। इसके बाद फैक्ट्री मालिक को सूचना दी गई। उन्होंने दमकल विभाग काे सूचना दी। विभाग की पहली गाड़ी पहुंचने में कुछ समय लगा। तब तक पूरी फैक्ट्री आग की लपटों में घिर चुकी थी। बहादुरगढ़ की छह दमकल गाड़ियों से बात न बनती देख रोहतक और झज्जर से भी गाड़ियां बुलाई गई। सुबह सात बजे तक आग बुझी।

फैक्ट्री के अंदर खड़ी थी चार गाड़ी, एक के टायरोें में लगी आग

फैक्ट्री के अंदर चार गाड़ी खड़ी थी। एक गाड़ी तक तो आग पहुंच गई थी। उसके टायरों में आग लग चुकी थी। तभी आग बुझाई और जल्दी से सभी गाड़ियों को बाहर निकाला गया। बताया जा रहा है फैक्ट्री में टेप बनाने के लिए जिस केमिकल का प्रयोग होता है, वह काफी ज्वलनशील है। आग किस कारण से लगी, यह अभी साफ नहीं है। शार्ट सर्किट की वजह से आग लगने का अनुमान है। फैक्ट्री मालिक संजीव हुड्डा ने बताया कि जो फायर फाइटिंग सिस्टम था, वह भी आग में घिर चुका था। फैक्ट्री के अंदर वाटर टैंक भी है, मगर उस वक्त आग के कारण बिजली सप्लाई काटनी पड़ी। फैक्ट्री में रखा हुआ कच्चा व तैयार माल, मशीन, बिजली के उपकरण जल गए। फैक्ट्री भवन भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ है। इससे करोड़ों का नुकसान हुआ है।