'India Lockdown' पर आधारित है मधुर भंडारकर की ये फिल्म, ट्रेलर देख आप हो जाएंगे हैरान 

Punjab CM

'India Lockdown' पर आधारित है मधुर भंडारकर की ये फिल्म, ट्रेलर देख आप हो जाएंगे हैरान 

Madhur Bhandarkar upcoming film based on India Lockdown.

Madhur Bhandarkar upcoming film based on India Lockdown.

Bollywood : जीवन की सचाई को बॉलीवुड के परदे दिखाने वाले डायरेक्टर मधुर भंडारक, जिन्होंने कई उम्दा फिल्मे जैसे कि 'फैशन', 'हिरोइन', 'पेज 3' और 'चांदनी बार' जैसी फिल्मों के जरिए जिंदगी की सच्चाई को सिल्वर स्क्रीन पर दिखाया है और उनकी इन फिल्मो को फैंस ने बहुत पसंद भी किया था। आपको बतादें कि अब एक और Real Life Story पर बानी उनकी फिल्म जल्द ही OTT पर रिलीज़ होने वाली है। जी हां, मधुर भंडारकर ने फिल्म 'इंडिया लॉकडाउन' (India Lockdown) बनाई है जो कि कोरोना महामारी के चलते पूरी दुनिया में lockdown लगाया गया था और जिसकी वजह से लाखो लोगो को  बेरोज़गारी से क्या -क्या झेलना पड़ा था उस पर ये फिल्म आधारित है। आपको बतादें की इस मूवी का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है, जिसे देख आपकी आंखें भी नम होंगी। आइए जानते है फिल्म की स्टार कास्ट के बारे में। 

फिल्म के अदाकार 
मधुर भंडारकर की नई फिल्म 'इंडिया लॉकडाउन' में श्वेता बसु प्रसाद, प्रतीक बब्बर, आहाना कुमरा, साईं ताम्हनकर और प्रकाश बेलावाड़ी ने अहम भूमिका निभाई है। फिल्म में प्रतीक बब्बर और साईं ने माइग्रेंट काम करने वाले कपल की भूमिका निभाई है, जिनकी कोरोना लॉकडाउन की वजह से नौकरी चली जाती है। श्वेता ने जिस्म बेचने का धंधा करने वाली लड़की का रोल निभाया है। आहाना ने पायलट का किरदार निभाया है। वहीं, प्रकाश एक मजबूर पिता के रोल में नजर आए हैं, जो परिवार से दूर दूसरे शहर में फंस गए थे। वो समय उनकी बेटी की जिंदगी का सबसे मुश्किल समय था, लेकिन सब कुछ बंद होने की वजह से वो सही समय पर परिवार तक नहीं पहुंच पाए थे।

क्या है फिल्म में खास 
नई फिल्म 'India Lockdown' के ट्रेलर बहुत ही ज़बरदस्त है। आप इसमें देख सकते है कि जब देश में लॉकडाउन लागू हुआ तो अलग-अलग तबके के लोगों को क्या-क्या झेलना पड़ा। लोग अपने-अपने घरों में कैद हो गए। जो अमीर थे, वो खुश थे। उन्हें अपने साथ या फैमिली के साथ क्वालिटी टाइम बिताने का मौका मिल गया। लेकिन जो लोग किसी के घर में काम करते थे, उनका एक वक्त की रोटी मिलना भी मुश्किल हो गया था। लोग अपने बच्चों का पेट पालने के लिए बुरे काम तक करने लग पड़े थे। लोगो ने तो बेरोज़गारी से हार मान कर मीलों तक पैदल चलकर घर लौटना शुरू कर दिया था। लेकिन ये घर लौटना भी आसान नहीं था। फिल्म का ट्रेलर लॉकडाउन के बाद क्या क्या हुआ, उस हकीकत से रूबरू कराता है।

कोरोना महामारी की वजह से पहला Lockdown 2020 में लगा था 
Covid-19 की वजह से पूरी दुनिया में कोहराम मचा था और तब सर्कार द्वारा 2020 मार्च के समय में पहला Lockdown लगाया गया था।  हालात बिगड़ने पर और पहले 21 दिनों का लॉकडाउन लगा था। उस समय पूरा देश बंद हो गया था। सड़कें खाली हो गई थीं। मास्क पहनना अनिवार्य हो गया था। हालात तब और भी ज्यादा बिगड़ गए थे, जब कोरोना की दूसरी वेव ने हमला किया था। उस समय ऑक्सीजन की कमी की वजह न जाने कितनी जानें चली गयीं। अस्पतालों में जगह नहीं बची थी। ऑक्सीजन के सिलेंडर नहीं मिल रहे थे। यहां तक कि शमशान घाट में लाश जलाने तक की जगह नहीं बची थी। वो समय किसी बुरे सपने से कम नहीं था।