OMG: पापा... 'मेरे लिए ये दुनिया ठीक नहीं, मैं जा रही हूं', Haryana में गैंगरेप पीड़िता ने खुद को खौफनाक मौत दी
Haryana Faridabad Gang Rape Girl Suicide

Haryana Faridabad Gang Rape Girl Suicide

OMG: पापा... 'मेरे लिए ये दुनिया ठीक नहीं, मैं जा रही हूं', Haryana में गैंगरेप पीड़िता ने खुद को खौफनाक मौत दी

Girl Story : हवस की आग में अंधे लोग बहन-बेटियों की जिंदगी उजाड़कर रख दे रहे हैं| आखिर कबतक... कबतक चलेगा ये सब? कब बहन-बेटियां चैन से जी सकेंगी| ऐसा कौन दिन आएगा जब उन्हें अपनी आबरू बचाने का डर नहीं सताएगा और उनकी आबरू भी सुरक्षित रहेगी| फिलहाल, हरियाणा से एक ऐसा मामला सामने आया है| जिससे दिल छलनी हुआ जा रहा है|

दरअसल, हरियाणा के फरीदाबाद में एक गैंगरेप पीड़िता ने खुद को बड़ी भयानक मौत दे डाली| गैंगरेप पीड़िता ने जहर खा लिया और उसकी तड़प-तड़पकर मौत हो गई| गैंगरेप पीड़िता ने यह खौफनाक कदम इसलिए उठाया क्योंकि उसका रेप करने वाले आरोपियों को जमानत मिल गई थी| बरहाल, पीड़िता के घर पर मातम छाया हुआ है| एक तो परिवार पहले से ही बेटी की इज्जत जाने का दर्द झेल रहा था और अब उसके ही जाने का दर्द बहुत बड़ा है|

अबतक जेल में बंद थे आरोपी....

बताया जाता है कि, पीड़िता का पिछले साल गैंगरेप हुआ था| उसके साथ गैंगरेप की घिनौनी घटना को अंजाम तब दिया गया जब वह स्कूल से घर आ रही थी| पीड़िता 12वीं की छात्रा थी| इधर, जब पीड़िता घर आते समय रास्ते में थी तो अटाली गांव के सौराज व गढ़खेड़ा गांव के नवीन ने उसे अगवा कर लिया और अपने एक दोस्त के घर ले जाकर बारी-बारी से रेप किया।

वहीं, जैसे-तैसे जब पीड़िता घर लौटी और उसने घर में पूरी वारदात बताई| जिसके बाद पीड़िता के पिता ने पुलिस में शिकायत दी और इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया| इस मामले में दोनों आरोपित अब तक जिला जेल नीमका में बंद थे| लेकिन अबजब उन्हें जमानत मिली और यह बात जब पीड़िता को पता लगी तो वह परेशान हो गई और उसने आत्महत्या कर ली| अब आप पीड़िता के इस कदम से ही समझ सकते हैं कि उसपर क्या बीती होगी जिसका डर उसके जहन से अबतक न गया और उसने जान दे दी|

अस्पताल ले जाया गया लेकिन बच न सकी जान...

पीड़िता ने परेशान होकर जब घर में जहर खाया तो उसकी हालत बिगड़ गई| जिसको देख घर वाले सन्न रह गए और फटाफट उसे अस्पताल लेकर भागे| लेकिन पीड़िता की हालत इतनी ज्यादा खराब हो चुकी थी कि डॉक्टर उसकी जान नहीं बचा सके|