Police1

डेराबस्सी में युवक पर गोली चलाने वाले पुलिस अफसर पर एफआईआर  

चंडीगढ़। पंजाब में मोहाली जिले के डेराबस्सी में दो दिन पहले युवक को गोली मारने वाले पुलिस सब-इंस्पेक्टर बलविंदर सिंह पर केस दर्ज कर लिया गया है। मोहाली पुलिस ने आरोपी सब-इंस्पेक्टर और मुबारिकपुर चौकी इंचार्ज बलविंदर सिंह को सस्पेंड कर दिया है। घटना के दौरान मौके पर मौजूद रहे तीन अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी डिपार्टमेंट इंक्वायरी शुरू कर दी गई है।

मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने मंगलवार को सब इंस्पेक्टर बलविंदर सिंह पर एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए। केस दर्ज कर बलविंदर सिंह को मोहाली पुलिस लाइन भेज दिया गया। मोहाली एसएसपी ने मौके पर मौजूद रहे तीन पुलिसवालों को सजा देने के लिए उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू के आदेश दिए।

बता दें कि 26 जून की रात साढ़े 9 बजे हाबेतपुर गांव के चेकपोस्ट पर झड़प के दौरान सब इंस्पेक्टर बलविंदर सिंह ने हितेश नामक युवक की जांघ में गोली मार दी थी। पुलिस का आरोप है कि आरोपी ने पुलिस गाड़ी को क्षति पहुंचाई और उनसे मारपीट की जिसके बाद बचाव में गोली चलानी पड़ी।

मोहाली एसएसपी ने इस मामले की जांच के लिए एसपी हेडक्वार्टर की अगुवाई में एसआईटी बनाई थी। इस मामले में डेराबस्सी थाने में चोट पहुंचाने, छेड़छाड़ करने, जान खतरे में डालने और धमकाने की धाराओं में केस दर्ज हुआ है।

दोनों पक्षों में आरोप-प्रत्यारोप

एसआई बलविंदर सिंह का कहना है कि पुलिस रविवार रात डेराबस्सी के हाबेतपुर गांव की चेक पोस्ट पर वाहनों को रोककर चैकिंग कर रही थी। चैकिंग के लिए पुलिस टीम ने बाइक सवार दंपति को रोका और महिला से बैग चैक करवाने को कहा। महिला बैग चेक कराने को तैयार नहीं हुई। उसने बहस करते हुए अपने भाई और पारिवारिक सदस्यों को फोन करके बुला लिया।

एसआई बलविंदर सिंह के अनुसार, इन लोगों ने पुलिसवालों के साथ मारपीट की और पुलिस की गाड़ी को नुकसान पहुंचाया। परिवार को बेकाबू होते देखकर उसने आत्मरक्षा में पहली गोली हवा में चलाई। इसके बावजूद जब हितेश और उसका परिवार आगे बढ़ता रहा तो उसे अपनी जान बचाने के लिए हितेश पर कमर के नीचे गोली चलानी पड़ी।

दूसरी ओर अस्पताल में भर्ती हितेश के मुताबिक, उसके जीजा और बहन हाबेतपुर रोड पर आ रहे थे तो वहां पुलिसवालों ने उनसे बदतमीजी की। दोनों पक्षों में बहस हुई तो एसआई बलविंदर सिंह ने तैश में आकर उसे गोली मार दी। हितेश के मुताबिक, उसकी बहन और जीजा को शक था कि पुलिसवाले उन्हें झूठे केस में फंसा सकते हैं इसलिए उन्होंने बैग चैक कराने से मना किया। हितेश की बहन और जीजा ने आरोप लगाया कि घटना के समय गोली चलाने वाला मुबारिकपुर पुलिस चौकी का इंचार्ज बलविंदर सिंह नशे में था।