टाइकॉन 2022 ने उभरते उद्यमियों के लिए सफलता के मंत्र दिए जाने माने बिजनेस लीडर्स ने
टाइकॉन 2022 ने उभरते उद्यमियों के लिए सफलता के मंत्र दिए जाने माने बिजनेस लीडर्स ने

टाइकॉन 2022 ने उभरते उद्यमियों के लिए सफलता के मंत्र दिए जाने माने बिजनेस लीडर्स ने

टाइकॉन 2022 ने उभरते उद्यमियों के लिए सफलता के मंत्र दिए जाने माने बिजनेस लीडर्स ने

चंडीगढ़, 30 अप्रैल, 2022: पंजाब के वित्त मंत्री सरदार हरपाल सिंह चीमा ने आज यहां वास्तविक जीवन की प्रेरणा, प्रतिबद्धता और सफलता के मंत्रों के साथ बहुप्रतीक्षित और साल के सबसे चर्चित आयोजनों में से एक टाईकॉन 2022 का उद्घाटन किया।

 

इस एक दिवसीय भव्य और विशाल आयोजन में शार्क टैंक इंडिया के जज बिलियनर अशनीर ग्रोवर और गज़ल अलघ सहित कई जाने माने बिजनेस लीडर्स ने अपनी अमूल्य सीख, स्किल सेट और सफलता के गोपनीय टिप्स साझा करके उद्घाटन सेशन में पैनल डिस्कशन के दौरान खचाखच भरे हॉल में सभी डेलीगेट्स को सम्मोहित कर दिया। 

टाइकॉन 2022 ने उभरते उद्यमियों के लिए सफलता के मंत्र दिए जाने माने बिजनेस लीडर्स ने

 

इस क्षेत्र में मौजूदा स्टार्ट-अप इकोसिस्टम को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से, टाइकॉन 2022 बहुप्रतीक्षित वार्षिक आयोजन का सातवां एडीशन है, जो कोविड से प्रभावित बिजनेसेज को अत्यधिक जोर, तालमेल और प्रोत्साहन प्रदान करने के प्रयास के रूप में आयोजित किया गया है।

 

पैनल डिस्कशन में को-जज $गज़ल अलघ के साथ बातचीत के दौरान, भारतपे के सह-संस्थापक, जिन्हें कंपनी से बेदखल कर दिया गया था, ने कहा कि उनकी अगली चुनौती अब किसी भी निवेशक के पास नहीं जाना है और अपने नए उद्यम को अपने स्वयं के पैसे के साथ शुरू करना है और उस व्यवसाय को मौलिक रूप से लाभदायक बनाने के लिए काम करना है। तीसरे पक्ष के निवेश की मांग करने वाले स्टार्टअप विचारों की समीक्षा करने वाले जज ने पूरे सेशन में सभी को हैरान कर दिया। 

मुंह पर सीधे बात कहने के लिए जाने जाते अशनीर ने डिस्कशन के मॉडरेटर न्यूज़ 18 पंजाब हरियाणा हिमाचल के मैनेजिंग एडीटर ज्योति कमल के एक सवाल का उत्तर देते हुए कहा कि ‘‘मेरी इतनी तू-तू मैं-मैं हो गया है सबसे, कि मैं फिर से निवेशकों के पास नहीं जाना चाहता।’’

 

भारतपे के साथ अपने विवाद में अपनी ओर से कथित तौर पर किए गए गलत आचरण को लेकर किए गए  सवाल में शामिल होने से इनकार करते हुए, ग्रोवर ने शनिवार को कहा कि दुर्भाग्य से मीडिया आज सभी विवादों को सुलझाने का आसान माध्यम बन गया है, चाहे वह कॉर्पोरेट हो या निजी मुद्दे, पर मैं इस सब में पडऩा नहीं चाहता।

 

शार्क टैंक शो में एक स्पष्ट रूप से बिंदास और आक्रामक जज के रूप में उनकी छवि के बारे में चर्चा के बारे में पूछे जाने पर, अशनीर ने कहा कि ‘‘मैं एक डिजिटल लडक़ा हूं जो 0,1 ट्रांजेक्टरी में काम करता है। ऐसे में अवसर काफी सीमित हो जाते हैं। उन्होंने एक अन्य सवाल के जवाब में अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद और गलत इरादे से प्रेरित बताते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें केवल अपने माता-पिता की नजर में सच होना था, किसी और की नहीं।

 

भविष्य के इनोवेशन लीडर्स के लिए सफलता के रहस्य को डिकोड करते हुए, वर्ष 2021 की महिला उद्यमी, सह संस्थापक और सीआईओ मामाअर्थ गज़़ल अलघ ने कहा कि अब भारत में संपन्न स्टार्टअप इकोसिस्टम को देखकर खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि अब हमारे पास बहुत सारे यूनिकॉर्न हैं जिन्होंने तीन से छह साल की अवधि में इस छलांग को पार कर लिया है। उन्होंने कहा कि सलाह, शिक्षा और इन्क्यूबेशन के साथ अब आने वाले यूनिकॉर्न के लिए इस स्तर पर पहुंचने की समय सीमा और भी कम होगी।

मामाअर्थ की संस्थापक अलघ ने कहा कि ‘‘मुझे यकीन है कि अगले हीरो हमारे स्टार्टअप लीडर होंगे जो ग्राहकों को बेहतर विकल्प देकर उनके जीवन में बदलाव लाने के विचार को संजोते हैं।’’

 

यह रेखांकित करते हुए कि अच्छे विचारों के लिए धन की कभी कमी नहीं होती है, गज़़ल ने युवा मन से सार्वजनिक भलाई के माध्यम से सफलता प्राप्त करने के अपने उद्देश्य के प्रति अपनी प्रतिबद्धता में निडर होने का आग्रह किया। जब मैंने पहली बार अपने विचार को साकार करना चाहा तो मुझे बहुत सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। उसने 2016 में मामाअर्थ लॉन्च किया था और छह साल से भी कम समय में उसने यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल किया था। उन्होंने कहा कि आज आप जिस चीज में विश्वास करते हैं, उसके लिए बाद में पछताने के दर्द को सहने के बजाय जोखिम उठाना हमेशा बेहतर होता है।

 

प्रिस्टिन केयर के सह-संस्थापक हरसिमरबीर सिंह ने ‘डेमिस्टिफाइंग द यूनिकॉर्न मंत्रा’ डिस्कशन के दौरान रेखांकित किया कि दृढ़ता आज के प्रतिस्पर्धी परिदृश्य में सफल होने का महत्वपूर्ण कारक है। उन्होंने कहा कि सतत सफलता कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता से ही पोषित होती है।

 

इससे पहले मुख्य अतिथि, चार्टर सदस्यों, प्रतिनिधियों और उभरते उद्यमियों का स्वागत करते हुए टीआईई चंडीगढ़ के अध्यक्ष और संस्थापक टीटी कंसल्टेंट्स जितिन तलवार ने प्रमुख आयोजन के मुख्य ध्यान के्रन्द्रित किए जाने वाले क्षेत्रों के रूप में मेंटरिंग, नेटवर्किंग, एजुकेशन, इन्क्यूबेशन और फंडिंग को चिह्नित किया।

 

तलवार ने कहा कि 3000 चार्टर सदस्यों के अलावा वैश्विक स्तर पर टाइकॉन के 15000 मजबूत सदस्यों ने पहले ही अर्थव्यवस्थाओं में एक ट्रिलियन डॉलर से अधिक की एसेट क्रिएशन में योगदान दिया है।

 

कार्यक्रम के दौरान पंजाब के प्रमुख सचिव उद्योग और वाणिज्य तेजवीर सिंह, सचिव उद्योग और वाणिज्य सिबिन सी, निदेशक एसटीपीआई अरविंद कुमार उपस्थित थे।