दुबई के बाद अब पाकिस्तान को सता रहा डूबने का डर, बाढ़-बारिश पर रिपोर्ट ने बढ़ाई टेंशन
BREAKING
जोशी ने गांव बड़ी करौर में रेत माफिया के हमले में घायल लोगों का कुशल-क्षेम जाना एमटीवी स्प्लिट्सविला एक्स 5 - एक्सयूज़ मी प्लीज़ के प्रतियोगी लक्ष्य, उन्नति और दिग्विजय राठी चंडीगढ़ में अपने फैन्स से मिले!* चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा गांव रायपुर खुर्द में चलाई जा रही अवैध निर्माण पर कार्रवाई का स्थानीय लोगों द्वारा जबरदस्त विरोध केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का यूपी में एक्सीडेंट; अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर निकले थे, तेज रफ्तार गाड़ी ने पीछे से मारी कार में टक्कर गुजरात के स्कूल में खौफनाक हादसा; क्लासरूम में लंच कर रहे थे बच्चे, अचानक गिर पड़ी दीवार, वीडियो में कैद पूरा मंजर देखिए

दुबई के बाद अब पाकिस्तान को सता रहा डूबने का डर, बाढ़-बारिश पर रिपोर्ट ने बढ़ाई टेंशन

Pakistan Flood

Pakistan Flood

खैबर पख्‍तूनख्‍वा। Pakistan Flood: खैबर पख्तूनख्वा में 13 और लोगों की मौत की खबर सामने आई है। डॉन ने प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (पीडीएमए) की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि एक ही दिन में लगभग दो दर्जन लोगों की मौत के साथ खैबर पख्तूनख्वा में गंभीर मौसम की स्थिति से मरने वालों की संख्या बढ़कर 59 हो गई है।

जियो न्‍यूज ने बताया कि शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (पीडीएमए), जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) और अन्य संबंधित विभागों को पाकिस्‍तान में 29 अप्रैल तक भारी बारिश और तूफान के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया था।

लगातार बारिश के कारण उत्तरी क्षेत्रों में अचानक आई बाढ़

डॉन के अनुसार, इससे पहले खैबर पख्तूनख्वा में पीएमडी ने बुधवार रात से 21 अप्रैल तक शांगला, बुनेर, बाजौर, खैबर और पेशावर सहित क्षेत्रों में बारिश,आंधी-तूफान और ऊंची चोट‍ियों पर बर्फबारी का पूर्वानुमान जारी किया था।

12 अप्रैल के बाद से लगातार बारिश के कारण प्रांत के उत्तरी क्षेत्रों में अचानक बाढ़ आ गई है, जिससे पूरे खैबर पख्‍तूनख्‍वा में भूस्खलन और संरचनात्मक पतन हुआ है।

बारिश से संबंधित घटनाओं में 72 लोग घायल

पीडीएमए की नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, मृतकों में 33 बच्चे, 14 पुरुष और 12 महिलाएं शामिल हैं, जबकि बारिश से संबंधित घटनाओं में कुल 72 लोग घायल हुए हैं।

डॉन के अनुसार, रिपोर्ट में महत्वपूर्ण क्षति का संकेत दिया गया है, जिसमें 2,883 घर और 68 स्कूल प्रभावित हुए हैं और 309 मवेशियों की हानि हुई है।

पीडीएमए के प्रवक्ता अनवर शहजाद ने डॉन वेबसाइट को बताया कि शनिवार को नदियों में पानी का प्रवाह सामान्य था। सिंचाई विभाग के बाढ़ सेल की एक रिपोर्ट पूरे प्रांत में 12 नदियों में अलग-अलग जल प्रवाह स्तर का संकेत देती है, जो निम्न से मध्यम और सामान्य तक है।

पीडीएमए प्रवक्ता ने कहा कि राहत प्रयासों को बनाए रखने के लिए जिलों को 110 मिलियन पाकिस्‍तानी रुपय की आपातकालीन सहायता राशि आवंटित की गई है, साथ ही आदिवासी जिलों को अतिरिक्त 90 मिलियन पाकिस्‍तानी रुपये वितरित किए गए हैं। इस बीच, बलूचिस्तान पीडीएमए ने अधिकांश जिलों में सामान्य मौसम की स्थिति की सूचना दी है।