Work of Irrigation Department : अलीगढ़ में विभागीय अधिकारियों ने पहले करवन नदी पर कब्‍जा करवाया फिर बनवा दिया रास्‍ता
Work of Irrigation Department : अलीगढ़ में विभागीय अधिकारियों ने पहले करवन नदी पर कब्‍जा करवाया फिर बनवा दिया रास्‍ता

Work of Irrigation Department : अलीगढ़ में विभागीय अधिकारियों ने पहले करवन नदी पर कब्‍जा करवाया फिर

Work of Irrigation Department : अलीगढ़ में विभागीय अधिकारियों ने पहले करवन नदी पर कब्‍जा करवाया फिर बनवा दिया रास्‍ता

अलीगढ़। Work of Irrigation Department : योगी 2.0 में नदियों को पुर्नजीवित करने को मुहिम चलाई जा रही है। वहीं अलीगढ़ जनपद में इसके विपरीत सिंचाई विभाग के अफसरों ने ही करबन नदी पर कब्जा करवा डाला। मामला शासन स्तर तक पहुंचा तो संयुक्त सचिव द्वारा जांच बैठाए जाने के बाद अफसर दौड़े और पैमाइश कराई। नदी पर अ‌वैध कब्जा करने के मामले में सींचपाल व जिलेदार की ओर से थाना खैर में ईओ, नगर पालिका अध्यक्ष सहित तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को तहरीर दी है।

बसपा के पूर्व विधायक प्रमोद गौड़ ने कस्बा खैर में स्थित करबन नदी का पानी रोककर पक्का निर्माण करते हुए रास्ता बनाकर निजी प्रयोग में लेने की शिकायत की थी। आरोप था कि सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने ही भाजपा नेता व बिल्डरों से सांठगांठ कर नदी पर कब्जा करा दिया गया। सिंचाई विभाग के प्रमुख सचिव व संयुक्त सचिव ने मामले में जांच के आदेश दिए। जिसके बाद ड्रेनेज मंडल, अलीगढ़, अलीगढ़ खंड गंगा नहर, बुलंदशहर खंड गंगा नहर के अधिकारियों की टीम ने संबंधित सहायक अभियंता नानक चंद्र, अ‌वर अभियंता व राजस्व स्टाफ के साथ स्थलीय निरीक्षण किया। जिसमें पाया गया कि खैर गोण्डा मार्ग पर करबन नदी दो भाग से गुजरती है, दोनों भाग में जल प्रवाह होता है व दोनों भाग पर पुल बना है।

नदी के छोटे भाग को कंक्रीट का स्ट्रक्चर खड़ा कर अवरोध कर दिया गया है। जिस पर वास्तव में अतिक्रमण पाया गया। जांच रिपोर्ट के बाद सींचपाल श्यौराज सिंह व जिलेदार कृष्णन गुप्ता ने थाना खैर में तहरीर दी। जिसमें आरोप है कि करबन नदी पर अधिशासी अधिकारी व अध्यक्ष नगर पालिका खैर संजीव अग्रवाल व कैलाश चंद्र शर्मा, नई बस्ती, खैर नदी पर दीवार लगाकर रास्ते के लिए पाट दिया गया है। जो कि सिंचाई विभाग व राजकीय भूमि पर बिना अनुमति के अतिक्रमण किया गया है।

Work of Irrigation Department : शासन ने दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों पर कार्यवाही के दिए निर्देश

करबन नदी पर अवैध कब्जे की गूंज शासन तक पहुंचने के बाद आला अफसर भी हरकत में आ गए। अनु सचिव मदन मोहन त्रिपाठी ने सिंचाई व जल संसाधन विभाग के प्रमुख अभियंता व विभागाध्यक्ष को मामले में कार्यवाही के निर्देश दिए। अनु सचिव ने पत्र में निर्देशित किया है कि प्रकरण में दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों को उत्तरदायित्व निर्धारित कर उनके विरूद्ध कार्यवाही की जाए। जिन अधिकारियों के कार्यकाल में कब्जा हुआ है। उन सभी के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा जाए।

Work of Irrigation Department : 40 बीघा में बन रही कॉलोनी को रास्ता देने को निर्माण

खैर नगर पालिका अध्यक्ष ने बताया कि कैलाश चंद्र शर्मा द्वारा 40 बीघा में कॉलोनी काटी जा रही है। उनके द्वारा निर्माण के लिए पालिका से अनुमिता मांगी थी। नियमानुसार अनुमित दी गई। जिसके बाद निर्माण हुआ है।