Thackeray government in crisis, see what decree was given in the cabinet meeting
Udhav-Thakre

Thackeray government in crisis, see what decree was given in the cabinet meeting

संकट में ठाकरे सरकार, देखें कैबिनेट मीटिंग में क्या दिया फरमान

मुंबई/सूरत। सियासी संकट पर बुलाई गई महाराष्ट्र कैबिनेट की अहम बैठक खत्म हो गई है। इसमें उद्धव वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े, क्योंकि वे कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। मीटिंग में क्या तय हुआ, यह अभी सामने नहीं आया। ये खबर आ रही है कि बैठक से 8 मंत्री गायब रहे। बैठक से पहले संजय राउत इशारा कर चुके हैं कि विधानसभा भंग होने की दिशा में जा रही है। सियासी उठापटक के बीच मुख्यमंत्री उद्धव का पहला बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री ने कहा- हम देखेंगे आगे क्या होता है?
    सूरत से गुवाहाटी पहुंच चुके एकनाथ शिंदे अब अपने साथ 46 विधायकों के होने का दावा कर रहे हैं। ये भी कह रहे हैं कि शिवसेना से अलग नहीं होंगे। लेकिन, गुवाहाटी में अभी 33 शिवसेना के विधायक हैं, 2 निर्दलीय हैं। अभी 2 शिवसेना विधायक संजय राठोर और जोगेश कदम पहुंचे हैं यानी संख्या 37 हो चुकी है। 2 और विधायकों का इंतजार किया जा रहा है, जो महाराष्ट्र से रवाना हो चुके हैं।
    कुछ और हलचलें हैं.. जैसे- कमलनाथ ने कांग्रेस विधायकों से मुलाकात की और फिर उद्धव से मिलने का समय मांगा, जो नहीं मिला। शरद पवार ने राकांपा कोटे के मंत्रियों के साथ हालात पर मंथन किया। भाजपा भी अपने विधायकों के संपर्क में लगातार बनी हुई है।

शिंदे 40 विधायकों के साथ सूरत से गुवाहाटी पहुंचे हैं। सारे विधायक होटल रेडिसन ब्लू में ठहरे हैं। होटल के बाहर और अंदर असम पुलिस का पहरा है। सीआरपीएफ के जवान भी होटल के बाहर मौजूद हैं। मीडिया को भी एक इंच यहां से वहां नहीं होने दिया जा रहा। हर आने-जाने वाले पर कड़ी निगाह रखी जा रही है।

होटल के अंदर से सिर्फ पुलिस अधिकारियों की गाडिय़ां ही निकल सकती हैं। शिंदे ने अपने साथ 46 विधायकों के होने का दावा किया है और कहा है कि महाराष्ट्र सरकार से समर्थन वापसी के पत्र पर सबसे दस्तखत करवा लिए गए हैं। इन सभी विधायकों से शाम को राज्यपाल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे। 

भाजपा फिलहाल वेट एंड वाच की स्थिति में है। मुंबई के अलग-अलग इलाकों में बीजेपी नेता मीटिंग कर रहे हैं। एनसीपी की मीटिंग वाईबी चव्हाण हॉल में हुई है। इसमें पार्टी के सभी विधायकों को शरद पवार से संबोधित किया है।

बालासाहब थोराट के बंगले पर कांग्रेस के विधायकों की बैठक हुई है। इसमें कमलनाथ ने सभी विधायकों को संबोधित किया है। शिवसेना ने सभी विधायकों के नाम एक पत्र जारी कर शाम पांच बजे तक सभी को मुंबई आने के लिए कहा है। अगर वे शाम की मीटिंग में शामिल नहीं होते हैं तो उनकी पार्टी की सदस्यता रद्द मानी जाएगी। 

महाराष्ट्र में सोमवार को हुए विधान परिषद चुनाव में महाविकास अघाडी का बहुमत 151 तक गिर गया है। राज्यसभा चुनाव के दौरान महाविकास आघाडी के पास 162 विधायक थे, जबकि उससे पहले ये संख्या 170 थी। यानी राज्यसभा चुनाव के बाद महाविकास अघाडी के 11 विधायक कम हुए हैं।

परिषद चुनाव से पहले और बाद में तुलना करके देखा जाए तो कुल 19 विधायक महाविकास आघाडी से दूर हुए। दूसरी तरफ अब भाजपा को 134 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। सरकार टिकने के लिए 144 का बहुमत जरूरी है। ऐसे में महाविकास अघाडी और भाजपा की संख्या में अंतर बहुत कम रह गया है।