पंजाब पुलिस ने बठिंडा और दिल्ली में खालिस्तान पक्षीय नारे लिखने वाले ऐसऐफजे के तीन गुर्गों को किया काबू
BREAKING
एमटीवी स्प्लिट्सविला एक्स 5 - एक्सयूज़ मी प्लीज़ के प्रतियोगी लक्ष्य, उन्नति और दिग्विजय राठी चंडीगढ़ में अपने फैन्स से मिले!* चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा गांव रायपुर खुर्द में चलाई जा रही अवैध निर्माण पर कार्रवाई का स्थानीय लोगों द्वारा जबरदस्त विरोध केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का यूपी में एक्सीडेंट; अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर निकले थे, तेज रफ्तार गाड़ी ने पीछे से मारी कार में टक्कर गुजरात के स्कूल में खौफनाक हादसा; क्लासरूम में लंच कर रहे थे बच्चे, अचानक गिर पड़ी दीवार, वीडियो में कैद पूरा मंजर देखिए पूरे देश में कर्फ्यू, सड़कों पर सेना, 105 से ज्यादा मौतें और 2500 जख्मी, कोटा सिस्टम को लेकर उबल रहा पड़ोसी बांग्लादेश!

पंजाब पुलिस ने बठिंडा और दिल्ली में खालिस्तान पक्षीय नारे लिखने वाले ऐसऐफजे के तीन गुर्गों को किया काबू

Punjab Police Arrested three SFJ Operatives

Punjab Police arrested three SFJ

- तीन मोबाइल फ़ोन, दो डौंगल, एक आधर कार्ड और एक एटीएम कार्ड बरामद

- मुलजिम गोगी सिंह ऐसऐफजे का मुख्य संचालक है और न्यूयार्क स्थित गुरपतवंत पन्नू के साथ सीधा संपर्क में था: डीजीपी गौरव यादव

चंडीगढ़/ बठिंडा, 14 मईः Punjab Police arrested three SFJ: काउन्टर इंटेलिजेंस (सीआइ) बठिंडा और ज़िला पुलिस बठिंडा ने सांझे आपरेशन के दौरान सिखस फार जस्टिस ( ऐसऐफजे) के तीन गुर्गों को पंजाब में बठिंडा और दिल्ली की अलग-अलग सार्वजनिक स्थानों पर खालिस्तान पक्षीय  नारे लिखने के दोष अधीन गिरफ़्तार किया है। यह जानकारी आज यहाँ डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डीजीपी) पंजाब गौरव यादव ने दी। 

बताने योग्य है कि न्यूयार्क आधारित ऐसऐफजे- जो मास्टर माइंड गुरपतवंत सिंह पन्नू की हिमायत प्राप्त है- को भारत सरकार द्वारा ग़ैर- कानूनी संगठन के तौर पर मनोनीत किया गया है। हाल ही में 24 अप्रैल को बठिंडा के ज़िला प्रशासनिक कंपलैक्स और कोर्ट कंपलैक्स की दीवारों पर खालिस्तान पक्षीय नारे लिखे हुए पाये गए थे, जिससे कुछ दिनों बाद 9 मई को दिल्ली के झंडेवाल मेट्रो स्टेशन और करोल बाग़ मेट्रो स्टेशन पर भी ऐसे ही नारे लिखे हुए पाये गए थे। 

Punjab Police arrested three SFJ

गिरफ़्तार किये गए मुलजिमों की पहचान गोगी सिंह निवासी गाँव जीवन सिंह वाला, बठिंडा और जौनी निवासी गाँव जिओण सिंह वाला, तलवंडी साबो के तौर पर हुई है, जबकि तीसरा मुलजिम जिसकी पहचान पहचान प्रितपाल सिंह निवासी गाँव डोड, फरीदकोट के तौर पर हुई है, को बठिंडा जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाया गया है। प्रितपाल को जी- 20 के दौरान दिल्ली मेट्रो और बठिंडा थर्मल प्लांट पर गरैफिटी लिखने के दोष में भी गिरफ़्तार किया गया था। 

डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि गोगी सिंह, जोकि ऐसऐफजे का मुख्य संचालक है, गुरपतवंत सिंह पन्नू के सीधे संपर्क में था और उसने पन्नू के निर्देशों पर पैसों के बदले इस कार्यवाही को अंजाम दिया। उन्होंने बताया कि मुलजिम ने दीवारों पर लिखे नारों की फोटों/ वीडियो भी पन्नू के साथ सांझा की थीं। उन्होंने आगे बताया कि पुलिस टीमों ने उसके पास से तीन मोबाइल फ़ोन, दो डौंगल, आधार कार्ड और एटीएम कार्ड भी बरामद किया है। 

Punjab Police arrested three SFJ

उन्होंने बताया कि इस मामले को सुलझाने के लिए काउन्टर इंटेलिजेंस बठिंडा और बठिंडा पुलिस ने सांझे तौर पर पेशेवर और वैज्ञानिक ढंग से जांच की। 

एसएसपी बठिंडा दीपक पारिक ने बताया कि तकनीकी ढंग के साथ कार्यवाही करते हुये बठिंडा पुलिस ने मुलजिम जौनी को पकड़ने में कामयाबी हासिल की। इसके उपरांत जौनी ने खुलासा किया कि बठिंडा में अलग-अलग स्थानों पर नारे लिखने की कोशिश के समय वह गोगी के साथ थी। 

उन्होंने बताया कि मुलजिम जौनी के खुलासे के बाद बठिंडा पुलिस और सीआइ बठिंडा ने विशेष मुहिम चला कर गोगी सिंह को गिरफ़्तार कर लिया। 

Punjab Police arrested three SFJ

इस सम्बन्धी और जानकारी देते हुये एआईजी सीआइ बठिंडा अवनीत कौर सिद्धू ने बताया कि आबकारी एक्ट के अंतर्गत बठिंडा पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किये मुलजिम गोगी की बठिंडा जेल में प्रितपाल सिंह के साथ मुलाकात हुई थी और जेल से बाहर आने के उपरांत वह उसके संपर्क में रहा। उन्होंने बताया कि मुलजिम प्रितपाल ने गोगी की जान-पहचान गुरपतवंत सिंह पन्नू के साथ करवाई, जिसने गोगी को खालिस्तान पक्षीय नारे लिखने का काम सौंपा और उसको मुक्तसर कोटकपूरा रोड पर छिपाए गये 50000 रुपए लेने के लिए कहा।
 
इस सम्बन्धी एफआईआर नं. 55 तारीख़ 27/ 4/ 24 को थाना सिवल लाईन बठिंडा में भारतीय दंड संहिता ( आइपीसी) की धारा 153 बी के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है