पन्नु का हरियाणा में गुरुग्राम से अंबाला तक डीसी दफ्तरों पर खालिस्तानी झंडे लगाने का ऐलान
पन्नु का हरियाणा में  गुरुग्राम से अंबाला तक डीसी दफ्तरों पर खालिस्तानी झंडे लगाने का ऐलान

पन्नु का हरियाणा में गुरुग्राम से अंबाला तक डीसी दफ्तरों पर खालिस्तानी झंडे लगाने का ऐलान

पन्नु का हरियाणा में गुरुग्राम से अंबाला तक डीसी दफ्तरों पर खालिस्तानी झंडे लगाने का ऐलान

29 अप्रैल को हरियाणा बनेगा खालिस्तान का नारा
पन्नू की धमकी से सुरक्षा एजेंसियां हुई सतर्क

चंडीगढ़, 15 अप्रैल। पंजाब में लंबे समय तक आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने वाले प्रतिबंधित खालिस्तानी संगठन सिख्स फॉर जस्टिस के निशाने पर अब हरियाणा आ गया है। विदेश में बैठे एसएफजे प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू ने 29 अप्रैल को गुरुग्राम से अंबाला तक उपायुक्त कार्यालयों पर खालिस्तानी झंडा फहराने का ऐलान किया है। इस ऐलान के बाद हरियाणा में सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं।
एसएफजे प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू पहले भी हरियाणा व पंजाब में असमाजिक गतिविधियों को बढ़ावा दे चुका है। पन्नू के कई समर्थक पुलिस द्वारा गिरफ्तार भी किए जा चुके हैं।
पन्नू ने एक वीडियो मैसेज तथा मीडिया को मेल भेजकर कहा है कि खालिस्तान घोषणा के 36 वर्ष पूरे होने के अवसर पर 29 अप्रैल को गुरुग्राम से अंबाला तक उपायुक्त कार्यालयों पर खालिस्तानी झंडे लगाए जाएं। पन्नू ने कहा है कि 29 अप्रैल को हरियाणा बनेगा खालिस्तान अभियान की शुरूआत की जाएगी। पन्नू ने कहा कि हरियाणा में वालंटियरों की भर्ती की जाएगी जो हरियाणा को भारत के कब्जे से मुक्त करवाएंगे। एसएफजे ने जनमत के माध्यम भारत से अलग होने वाले क्षेत्रों का एक नक्शा भी जारी किया है, जिसमें हरियाणा भी है।
पन्नू ने हरियाणा सिख गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष बलजीत सिंह दादूवाल तथा ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट फैडरेशन के सभी संगठनों को इस अभियान में साथ आने की अपील करते हुए कहा है कि वह खालिस्तान रैफरंडम के लिए उसका सहयोग करें। पन्नू के इस मैसेज के बाद हरियाणा में सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। हालांकि पन्नू द्वारा पहले भी इस तरह के मैसेज दिए जाते रहे हैं लेकिन इस बार सभी जिला उपायुक्त कार्यालयों को टारगेट किए जाने के बाद सीआईडी ने पन्नू के सहयोगियों की जानकारी जुटानी शुरू कर दी है।