एक तरफ कांग्रेस कर रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ वहीं दूसरी ओर  कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने शुरू किया कांग्रेस  छोड़ो’ अभियान: जयराम ठाकुर
Bharat Jodo Yatra

एक तरफ कांग्रेस कर रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ वहीं दूसरी ओर  कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने शुरू किया कांग

एक तरफ कांग्रेस कर रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ वहीं दूसरी ओर  कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने शुरू किया कांग्रेस  छोड़ो’ अभियान: जयराम ठाकुर

कहा: पूरे देश से मिटा कांग्रेस का नामो निशान

मंडी, राजन पुंछी
कांग्रेस पार्टी का पूरे देश से नामो निशान मिट चुका है। कांग्रेस पार्टी वर्तमान में एक कठिन दौर से गुजर रही है क्योंकि एक तरफ कांग्रेस ‘भारत जोड़ो यात्रा’ आयोजित कर रही है, वहीं दूसरी ओर गोवा के कांग्रेस विधायक, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, हिमाचल कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पवन काजल और मौजूदा विधायक लखविंदर राणा ने ‘कांग्रेस छोड़ो’ अभियान शुरू किया है। रविवार को अपने करसोग दौरे के दौरान आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा  कि अब प्रदेश कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता राम लाल ठाकुर ने भी कांग्रेस नेतृत्व पर भाई-भतीजावाद और अपनी-अपनी दावेदारी के आरोप लगाते हुए पार्टी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी गेहूं के आटे को भी लीटर में मापते हैं, जो आम आदमी के मुद्दों के प्रति उनकी अज्ञानता को दर्शाता है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के गठन के 75 साल के आयोजन कांग्रेस नेताओं को रास नहीं आ रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि ये नेता इस ऐतिहासिक आयोजन को भी राजनीतिक चश्मे से देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस उत्सव को आयोजित करने का एकमात्र उद्देश्य हिमाचल प्रदेश को विकास के मामले में देश का अग्रणी राज्य बनाने में यहां के लोगों की भूमिका और योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त करना है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व के 50 वर्ष पूरे होने पर कांग्रेस नेता भी इस तरह के आयोजन कर सकते थे लेकिन उन्होंने इस बारे में सोचा भी नहीं था क्योंकि वे अन्य गतिविधियों में व्यस्त थे।उन्होंने कहा कि ‘मिशन रिपीट’ सुनिश्चित करने के लिए वर्तमान राज्य सरकार के स्पष्ट आह्वान को पचा पाना विपक्षी नेताओं को मुश्किल हो रहा है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदेश में कांग्रेस बेरोजगारी के खिलाफ ‘यात्रा’ का आयोजन कर युवाओं को गुमराह कर रही है, परन्तु युवा इनके बहकावे में नहीं आने वाले हैं।