Navjot Sidhu क्या करने वाले?: शायराना अंदाज में Congress को ही निशाने पर लिया, पहले अध्यक्ष पद गया और अब कार्रवाई तो गुरु का दिखा गुस्सा
Navjot Sidhu tweet regarding action against him

Navjot Sidhu tweet regarding action against him

Navjot Sidhu क्या करने वाले?: शायराना अंदाज में Congress को ही निशाने पर लिया, पहले अध्यक्ष पद गया और अब कार्रवाई तो गुरु का दिखा गुस्सा

Navjot Sidhu News : पहले अध्यक्ष पद से हटाए जाने और अब अपने खिलाफ कार्रवाई की मांग उठने से नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Sidhu) के तेवरों में गर्माहट पैदा हो रही है| सिद्धू ने बुधवार सुबह शायराना अंदाज में एक ट्वीट से बहुत कुछ कह दिया है| सिद्धू ने शायराना अंदाज में ट्वीट करते हुए कहा- ''अपने ख़िलाफ़ बातें मैं अक्सर खामोशी से सुनता  हूँ . . . . .जवाब देने का हक़ , मैंने वक्त को दे रखा है . . .''| माना जा रहा है कि सिद्धू ने इस प्रकार की बयानबाजी से Congress के उन नेताओं को तो निशाने पर लिया ही है जो उनके खिलाफ हैं, इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस हाईकमान को भी एक संकेत देने की कोशिश की है| कार्रवाई की मांग होने के बाद सिद्धू का इस प्रकार का यह पहला ट्वीट है|

यह पढ़ें - नाइट क्लब में किस लड़की के साथ हैं राहुल गांधी: BJP बातें करने लगी तो Congress ने जावड़ेकर से लेकर PM Modi और वाजपेयी तक कर डाला ये काम

 

बतादें कि, पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश चौधरी ने कांग्रेस हाईकमान को पत्र लिखा है और पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर कार्रवाई की मांग उठाई है| हरीश चौधरी ने कहा है कि अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति की बैठक बुलाकर सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की जाए| वहीं, बताया जा रहा है कि कांग्रेस हाईकमान (Congress) ने भी अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति की बैठक बुलाने का निर्णय ले लिया है| माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में सिद्धू के खिलाफ कोई बड़ा एक्शन दिख सकता है| फिलहाल, यह देखना बड़ा दिलचस्प होगा कि सिद्धू के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाती है? क्योंकि सिद्धू सोनिया, राहुल और प्रियंका के करीबी माने जाते हैं|

पंजाब कांग्रेस अंदरूनी लड़ाई कब थमेगी?

पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) लम्बे समय से अंदरूनी लड़ाई से जूझ रही है और इसी लड़ाई के चलते पार्टी को विधानसभा चुनाव- 2022 में भारी नुकसान उठाना पड़ गया है| वहीं, जब पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी लड़ाई की बात आती है तो नवजोत सिंह सिद्धू को कोई कैसे भूल सकता है| पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी लड़ाई की चर्चा ने तब जोर पकड़ा था, जब कैप्टन अमरिंदर सिंह के पार्टी में रहते सिद्धू ने बगावती रुख अपनाया था| जिसके बाद पार्टी में अंदरूनी लड़ाई बढ़ती चली गई| आखिरकार, कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा और बाद में कैप्टन ने कांग्रेस को भी अलविदा कह दिया|

इधर, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बन चुके सिद्धू के तेवर फिर भी नहीं बदले| जिस प्रकार वह कैप्टन अमरिंदर सिंह को निशाने पर लेते थे उसी प्रकार वह बाद में भी अपनी ही पार्टी के नेताओं को सरेआम निशाने पर लेते रहे और इसका नेगेटिव असर लोगों में गया| कांग्रेस के कई नेता मानते हैं कि सिद्धू के चलते ही पार्टी विधानसभा चुनाव- 2022 हार गई| बतादें कि, पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी लड़ाई के चलते न जाने कितने नेता पार्टी छोड़कर जा चुके हैं| फिलहाल, सिद्धू को पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है| अब अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग पंजाब कांग्रेस के नए अध्यक्ष हैं|