बांग्लादेश में मानसून ने बरपाया कहर, 25 लोगों की मौत
बांग्लादेश में मानसून ने बरपाया कहर

बांग्लादेश में मानसून ने बरपाया कहर, 25 लोगों की मौत

बांग्लादेश में मानसून ने बरपाया कहर, 25 लोगों की मौत

बांग्लादेश में मानसून कहर बरपा रहा है। भारी वर्षा के कारण आई बाढ़ में 40 लाख से ज्यादा लोग घिर गए हैं। भारी तबाही के बीच 25 लोगों की मौत हो गई है। 

शनिवार को अधिकारियों ने बताया कि बांग्लादेश में बाढ़ हमेशा की मुसीबत है। निचले इलाकों में रहने वाले लाखों लोगों को बाढ़ का सामना करना पड़ता है। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि जलवायु परिवर्तन से भी बार बार बाढ़ के हालात बन रहे हैं। बाढ़ को लेकर पूर्वानुमान लगाना भी मुश्किल हो रहा है। 

बचाव कार्यों में सेना तैनात
पिछले सप्ताह हुई लगातार भारी वर्षा से बांग्लादेश के उत्तर पूर्वी हिस्से में हालात बिगड़ गए हैं। वहां राहत व बचाव कार्यों में सेना को तैनात किया गया है। कई लोग घरों में फंसे हुए हैं। उनका संपर्क टूट गया है। अनेक नदियां उफान पर चल रही हैं। बाढ़ में घिरे लोगों को निकालकर स्कूलों में बनाए गए राहत शिविरों में रखा गया है। 

पूरे जीवन में ऐसी बाढ़ कभी नहीं देखी
कंपनीगंज गांव में रहने वाले लुकमान के अनुसार शुक्रवार को हमारा पूरा गांव पानी में डूब गया। हम सब बाढ़ के पानी में फंस गए। एक अन्य ने कहा कि घर की छत पर पूरे दिन इंतजार करने के बाद एक पड़ोसी ने हमें एक अस्थायी नाव से बचाया। उसकी मां ने बताया कि उसने अपने पूरे जीवन में ऐसी बाढ़ कभी नहीं देखी। 

बिजली गिरने से 21 की मौत
पुलिस अधिकारियों के अनुसार शुक्रवार दोपहर से अब तक बिजली गिरने से कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई है।स्थानीय पुलिस प्रमुख मिजानुर रहमान ने कहा कि उनमें से 12 से 14 साल की उम्र के तीन बच्चे थे। वहीं,  दरगाह शहर चटगांव में भूस्खलन से चार लोगों की मौत हो गई। सिलहट क्षेत्र के मुख्य सरकारी प्रशासक मुशर्रफ हुसैन के अनुसार शनिवार सुबह बाढ़ की स्थिति बिगड़ गई। बाढ़ के पानी में 40 लाख से अधिक लोग फंसे हुए हैं। लगभग पूरे क्षेत्र में बिजली नहीं है।