अजब -गजब ! मिलिए मोहाली के रहने वाले इस शख्स से जो चलाते है उल्टा साईकल
Sukhdev singh Reverse cyclist

अजब -गजब ! मिलिए मोहाली के रहने वाले इस शख्स से जो चलाते है उलटा साईकल

अजब -गजब ! मिलिए मोहाली के रहने वाले इस शख्स से जो चलाते है उलटा साईकल

पंजाब : कुछ करने की चाहत इंसान को उसको उसके मुकाम तक जरूर लेकर जाती है और अगर उसकी चाहत कुछ अलग हो तो इंसान को उसका Passion उसे और बुलंद बनता है। इस बात को पूरा कर दिखाया है मोहाली के रहने वाले Sukhdev Singh से जो की एक Reverse Cyclist है। जी हां, ये सुनकर आपको हैरानी बखूबी हुई होगी कि जहां लोग सीधी साईकल चलाने में वक़्त लगा देते है वहीं दूसरी और सुखदेव सिंह उलटी साईकल चलाते है। तो आइए जानते है उनके इस रोमांचिक सफर के बारे में। 

Reverse Cyclist बनने की प्रेरणा कहा से मिली? 

सुखदेव सिंह ने उल्टा साईकल चलना भी तब सीखा जब उन्होंने धर्मेद्र जी की फिल्म Sholay देखी। दरअसल आपको बता दे कि सुखदेव सिंह जो मोहाली (पंजाब) के रहने वाले है। वह धर्मेंद्र के बहुत बड़े Fan है और 1983 में जब उन्होंने धर्मेंद्र की शोले फिल्म देखी तो वह धर्मेद्र जी के फिल्म में एक सीन से बहुत प्रभावित हुए जहा धर्म जी गाना ' कोई हसीना जब रूठ जाती है तो और भी हसीन हो जाती है ', इस गाने में धर्म जी ने उलटी साईकल चलाई थी जिससे सुखदेव सिंह को भी उलटी साईकल चलाने की इच्छा हुई और उन्होंने एक हफ्ते में उलटी साईकल चलाना सिख लिया था। आज उन्हें Reverse Cyclist के नाम से लोग जानते है और उन्हें 35 साल हो गए है उल्टा साईकल चलाते हुए। 

अभ्यास के प्रयास से Limca Book Of Record में दर्ज हुआ नाम 

कहते है जानूं से प्रयास करे अपने सपने को पाने का तो वोह जरूर पूरा होता है। सुखदेव सिंह जी के साथ भी कुछ ऐसा हुआ, आखिरकार धर्म जी इतने बड़े Fan जो थे सुखदेव जी। आपको बतादे कि, सुखदेव सिंह रोज़ाना अपना उलटा साईकल चलाने का अभ्यास करते थे और रोज़ अभ्यास करते हुए करीब 50 किमी की दूरी तय करते थे। और करीब 10 लाख किलोमीटर की प्रैक्टिस हो चुकी है। उनके इस प्रयास ने उनको इतना माहिर बना दिया कि अब वह सीधा साईकल चलाने से थोड़ा घबराते है और यही नहीं, उनके इस शौंक ने ऐसा काबिल बना दिया की Reverse Cyclist के तौर पर उन्हें सम्मानित किया गया है और उनका नाम Limca Book Of Record 2013 में शामिल हुआ है और India Book Of Record 2012 में भी उनका नाम शामिल है। अब सुखदेव सिंह जी का सपना है की उनका नाम Guinness World Records में भी आए। 

जान से प्यारी उनको अपनी Cycle 

सुखदेव सिंह जी को अपनी Cycle से बहुत लगाव रहा है। इसलिए वह अपनी साईकल 35 साल से चेंज नहीं कर रहे है। यहां तक की अपनी साईकल मुरम्मत भी वोह खुद करते है। आप देख सकते हो की उनकी साइकल पर Helicopter नाम लिखा है जो उनके स्वर्गीय दोस्त ने नाम दिया था। उनका मानना था कि ये साईकल एक तूफानी साईकल है तो इसलिए सुखदेव ने इसको कभी छोडा नहीं। इस साईकल में bell हैंडल के पास नहीं बल्कि सुखदेव सिंह ने पैडल के पास फिट की हुई है जिससे उनको बैल बजाना आसान लगता है। खास बात यह है कि सुखदेव की Helicopter साईकल में सीट नहीं है क्योंकि उनको साईकल चलाने में confusion होती है।उनके जज़्बे से बच्चे, बूढ़े और जवान काफी प्रेरित होते है। 

Cycling के इलावा और करते है सुखदेव सिंह ?

आपको बता दे कि Sukhdev Singh जी रिवर्स साईकल में माहिर तो है ही साथ में वो अपना रोज़ाना व्यायाम करना नहीं छोड़ते है। वह All India Invitaion Boxing चैंपियनशिप मे बॉक्सर रह चुके है और स्पोर्ट्समैन है। उनको दो बार सीलव मैडल भी मिल चूका है हैवी वेट में। इसके अलावा 5 साल बॉडी बिल्डिंग की है। सुखदेव सिंह जी हर तरह की खेल खेलने शोक रखते है, पर आपको बतादे कि सुखदेव सिंह एक Fire Man की सर्विस कर रहे है। सुखदेव सिंह जी ने हमारी यूथ को यही सन्देश देते है की हर रोज़ कसरत करो, और जो आप चाहते हो बनना उसके लिए कभी अभ्यास न छोडो, क्योंकि वोह आपको मिलकर रहेगा।