काम्या पंजाबी गोलगप्पे खाने में हुई इतनी मशरूफ, ठेले पर ही भूल गईं 1 लाख रुपए लिफाफा

Punjab CM

काम्या पंजाबी गोलगप्पे खाने में हुई इतनी मशरूफ, ठेले पर ही भूल गईं 1 लाख रुपए लिफाफा

काम्या पंजाबी गोलगप्पे खाने में हुई इतनी मशरूफ

काम्या पंजाबी गोलगप्पे खाने में हुई इतनी मशरूफ, ठेले पर ही भूल गईं 1 लाख रुपए लिफाफा

सेलेब्स इन दिनों खूब गोलगप्पे खाते हुए स्पॉट किए जा रहे हैं. रुबीना दिलैक (Rubina Dilaik) कुछ समय पहले अपनी फैमली के संग पानी पूरी के चटकारे लेते हुए नजर आई थीं. उसके बाद आमिर खान (Aamir Khan) को भी लाल सिंह चढ्ढा (Laal Singh Chaddha Trailer) के ट्रेलर लॉन्च इवेंट पर पुचके का लुफ्त उठाते हुए देखा गया था.अब काम्या पंजाबी (Kamya Punjabi) की भी कुछ ऐसी ही फोटो सामने आई है. लेकिन इस दौरान उन्हें काफी परेशानी भी हुई. क्योंकि काम्या (Kamya) गोलगप्पे खा रही थीं ठेले के पास वहीं वो लाखों रुपये रख भूल गई थीं. इंदौर में हैं इन दिनों काम्या पंजाबी (Kamya Punjabi). यहीं वो एक लाख रुपये का लिफाफा पानी पूरी की दुकान पर रखकर भूल गईं. एक इंटरव्यू में इसके बारे में बात करते हुए काम्या (Kamya) ने कहा कि एक इवेंट के लिए संडे को मैं इंदौर में थे.

1 लाख का लिफाफा भूलीं काम्या

जब मैं वापस आ रही थी, तो मैनेजर ने मेरे कहा कि यहां मैम एक छप्पन दुकान है, जो बढ़िया पानी पूरी खिलाता है. वैसे ही इंदौर तो चाट के लिए काफी पॉपुलर है. खुद को मैं रोक नहीं पाई और फैसला कर लिया वहां जाने का. मेरे पास इस दौरान एक लिफाफा था. करीब 1 लाख रुपये का कैश था उसमें. टेबल के किनारे मैंने वो रख दिया, और खाने लगी. लेकिन फोटो लेने और खाने में मैं इतना व्यस्त हो गई कि लिफाफा वहीं भूल गई.काम्या के अनुसार जब वो होटल पहुंची, तो उन्हें इस बात का एहसास हुआ. तब उन्हें याद आया कि वो पानी पूरी वाले के दुकान पर छोड़ आई हैं.

स्टॉल पर ही मिला पैकेट

एक्ट्रेस ने कहा कि वहां मेरा मैनेजर पहुंचा, एकदम परेशान थी मैं इधर. उम्मीद कर रही थी बस कि वो मिल जाए. ये भी सोच रही थी मन ही मन कि वो अगर मिल जाएगा तो मुझे अपनी किस्मत का शुक्रियाअदा करना पड़ेगा. क्योंकि वो जगह बहुत ही ज्यादा भीड़-भाड़ वाली थी. खैर जब काम्या का मैनेजर वहां पहुंचा तो उन्हें वो पैकेट वहीं पड़ा मिला. उसके बाद उन्होंने पानी पूरी स्टॉल के मालिक दिनेश गुर्जर से बात की और उनसे वो लिया और तब आए. बहुत ज्यादा मैं सकपका गई थी. काम्या (Kamya) ने कहा कि इंदौर के लोग वास्तव में अच्छे हैं मुझे ऐसा लगता है.