जालंधर डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन चैंपियनशिप 3 अगस्त से
जालंधर डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन चैंपियनशिप 3 अगस्त से

जालंधर डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन चैंपियनशिप 3 अगस्त से

जालंधर डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन चैंपियनशिप 3 अगस्त से

डीसी घनश्याम थोरी ने जारी किया चैंपियनशिप का अधिकारिक पोस्टर

मैचों की होगी लाइव स्ट्रीमिंग, विजेताओं को मिलेंगे 3 लाख के पुरस्कार

सभी खिलाडिय़ों को मिलेगी मुफ्त रिफ्रेशमेंट, ट्राफी और सर्टिफिकेट

7 अगस्त को डीसी करेंगे विजेताओं को सम्मानित

जालंधर। डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन एसोसिएशन, जालंधर की तरफ से थिंक-गैस और एडिडास के सहयोग से 3 अगस्त से 7 अगस्त तक रायजादा हंसराज स्टेडियम में जिला बैडमिंटन चैंपियनशिप करवाई जा रही है। वीरवार को डीबीए प्रधान एवं डीसी, जालंधर श्री घनश्याम थोरी (आईएएस) ने चैंपियनशिप का अधिकारिक पोस्टर जारी किया। 
डीबीए के सचिव एवं पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी रितिन खन्ना ने बताया कि चैंपियनशिप के दौरान अंडर-11,13,15,17,19  में लडक़ें-लड़कियों और पुरुष एवं महिला वर्ग के सिंगल्स, डबल्स एवं मिक्सड डबल्स मुकाबले करवाए जाएंगे। वैटरन कैटेगरी में 35 प्लस से लेकर 60 प्लस आयु वर्ग के इवेंट होंगे। हर खिलाड़ी के लिए प्रति इवेंट 750 रुपए फीस तय है और 28 जुलाई तक खिलाड़ी अपना नाम पंजीकृत करवा सकते हैं। 
श्री खन्ना ने बताया कि बिना एंट्री फीस रसीद के और पंजीकरण की अंतिम तिथि के बाद कोई एंट्री नहीं ली जाएगी। टूर्नामेंट में भाग लेने वाले सभी खिलाडिय़ों को आयु प्रमाण पत्र लाना आवश्यक है। अगर कोई विवाद होता है तो उसमें भी डीबीए का फैसला अंतिम माना जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रतिभागी दो पासपोर्ट साइज तस्वीरों के साथ एडमिनिस्ट्रेटर गुरजीत सिंह और कोच भास्कर मुखर्जी से संपर्क करके अपनी एंट्रियां जमा करवा सकते हैं।  
रितिन खन्ना ने बताया कि 7 अगस्त को डीसी जालंधर श्री घनश्याम थोरी विजेताओं को सम्मानित करेंगे। चैंपियनशिप के दौरान फ्री रिफ्रेशमेंट की व्यवस्था होगी। मैचों की लाइव स्ट्रीमिंग होगी। डीबीए के 50 साल के इतिहास में पहली बार विजेताओं को 3 लाख के आकर्षक और नकद पुरस्कार दिए जाएंगे। हर प्रतिभागी को प्रमाण पत्र व ट्राफी दी जाएगी। महिला एवं पुरुष एकल मुकाबले के विजेताओं को सिंधु एवं गोपीचंद रनिंग ट्राफी प्रदान की जाएगी। इस आयोजन में थिंक गैस, एडिडास, एमके वायर्स, मेट्रो मिल्क, जगतजीत इंडस्ट्रीज, सावी इंटरनेशनल एवं एलपीयू का सहयोग प्राप्त है।