Vodafone-Idea: अगर आप भी है Vi के ग्राहक तो जान लीजिए नवंबर के बाद बंद हो सकती है इसकी सर्विस 

Punjab CM
Punjab CM

Vodafone-Idea: अगर आप भी है Vi के ग्राहक तो जान लीजिए नवंबर के बाद बंद हो सकती है इसकी सर्विस 

vodafone idea service stop in november

indus tower ask to vodafone and idea to clear dues otherwise service will stop after november

Vodafone-Idea Service: अगर आप भी वोडाफोन आईडिया के 25 करोड़ Mobile ग्राहकों में से एक है तो आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अब Vi की सर्विस रुक सकती है।  देश की निजी मोबाइल कंपनियों में से एक Vi कंपनी है जिसके लिए नवम्बर महीने में आफत आ सकती है।  दरअसल, कम्पनी पहले से ही भरी कर्ज में डूबी हुई है और अब इस कर्ज की वजह से इसकी सर्विस बंद की जा सकती है। मोबाइल टावर की दिग्गज कंपनी इंडस टॉवर्स ने कर्ज में डूबी भारी कंपनी वोडाफोन-आइडिया को जल्द से जल्द कर्ज जुटाने को कहा है। मिली जानकारी के अनुसार कंपनी वोडाफोन-आइडिया पर 7000 करोड़ का कर्जा है और जो अभी तक Vi Company ने उतारा नहीं है। इंडस टॉवर्स कंपनी ने कहा कि अगर वोडाफोन-आइडिया नवंबर के बाद भी अपना बिजनेस चालू रखना चाहती है तो पहले कर्ज का भुगतान करे। 

इंडस टावर (Indus tower) ने वोडाफोन-आइडिया (Vi) ने अपने कर्ज को जल्द से जल्द चुकाने की बात कही है। कंपनी ने वोडाफोन-आइडिया से अपने मौजूदा मासिक कर्ज का 80 फीसदी रकम चुकाने और अगले महीने से पूरी रकम एक साथ चुकाने को कहा है। कंपनी ने अपने आदेश में कहा है कि अगर वोडाफोन-आइडिया पेमेंट नहीं करती है तो नवंबर के बाद से कंपनी की सेवाएं बंद करदी जाएंगी। 

एक और कंपनी उठा सकती है यही कदम
इसके अलावा अमेरिकन टावर कॉरपोरेशन (एटीसी), जिसके पास भारत में 75,000 मोबाइल टावर हैं, वो भी अपने बकाए को सुरक्षित करने के लिए इसी तरह के कदमों पर विचार कर रही है। 

वोडाफोन ने चुकाए इतने करोड़ रुपए
Vi ने इंडस टॉवर्स से कुल 9,446.8 करोड़ रुपए की सर्विस ली। जिसमें से कंपनी ने 3,375 करोड़ रुपए चुकाया दिया है। ये राशि वोडाफोन की तरफ से इक्विटी इन्वेस्टमें के तौर पर इंडस टावर को मिली है।  

Vodafone-Idea पर कितना है कर्ज
वोडाफोन-आइडिया पर इंडस टावर्स का 6800 करोड़ रुपए और अमेरिकन टावर कॉरपोरेशन (एटीसी) का 2400 करोड़ रुपए बकाया है।  कंपनी ने Indus tower को पेमेंट प्लान का प्रस्ताव रखा है, जिसमें कंपनी दिसंबर 2022 तक अपना बिल अमाउंट के कुछ हिस्से को चुकाने की योजना बता रही है और इसके बाद जनवरी 2023 से जुलाई के बीच चरणबद्ध तरीके से पुराने बकाए की निकासी के साथ 100 प्रतिशत जो दिसंबर 2022 तक जमा होगा।