अग्निपथ योजना के विरोध में आज होगा भारत बंद, इंटरनेट पर प्रसारित इस संदेश के बाद उत्तराखंड पुलिस अलर्ट
अग्निपथ योजना के विरोध में आज होगा भारत बंद

अग्निपथ योजना के विरोध में आज होगा भारत बंद, इंटरनेट पर प्रसारित इस संदेश के बाद उत्तराखंड पुलिस अलर

अग्निपथ योजना के विरोध में आज होगा भारत बंद, इंटरनेट पर प्रसारित इस संदेश के बाद उत्तराखंड पुलिस अलर्ट

अग्निपथ भर्ती योजना के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा  रहा है। आज 20 जून सोमवार को भारत बंद के एलान के चलते उत्तराखंड में भी अलर्ट जारी किया गया है। रविवार को रुड़की नारसन क्षेत्र में युवाओं के अग्निपथ के विरोध में प्रदर्शन को लेकर पुलिस और प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट रहा। नारसन चौकी से लेकर मंगलौर गुड़ मंडी पर पुलिस का कड़ा पहरा रहा। वहीं, पुलिस ने नारसन क्षेत्र के कई गांवों में फ्लैग मार्च निकालकर प्रदर्शन न करने की चेतावनी दी। पुलिस की सख्ती के बाद युवाओं ने कोई प्रदर्शन और बैठक नहीं की। 

अग्निपथ भर्ती योजना के खिलाफ टनकपुर में युवाओं का प्रदर्शन जारी है। वहीं योजना के विरोध में आज 20 जून को चंपावत में प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन की पुलिस ने इजाजत नहीं दी है। उधर, अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में रेलवे स्टेेशनों पर हो आंदोलन और आगजनी की घटना को देखते हुए योगनगरी ऋषिकेश रेलवे स्टेशन पर चप्पे-चप्पे पर आरपीएफ (रेलवे पुलिस फोर्स) और जीआरपी (राजकीय रेलवे पुलिस) के जवानों को तैनात कर दिया गया है। स्टेशन पर हाई अलर्ट जारी कर अतिरिक्त फोर्स लगाई गई है।

रुड़की में मंडल सुरक्षा आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि थानाध्यक्षों को अलर्ट कर दिया गया है। रुड़की रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के लिहाज से पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। रेलवे लाइनों एवं ट्रैक पर कड़ी नजर रखी जा रही है। रेलवे पुलों पर भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। कोतवाली प्रभारी राजीव रौथाण ने बताया कि नारसन कस्बे और कई गांवों में सुरक्षा की दृष्टि से फ्लैग मार्च निकाला गया है। युवाओं से अपील की जा रही है कि वह प्रदर्शन न करें। इस दौरान नारसन चौकी प्रभारी बृजपाल सिंह, एसआई दिनेश पंवार, जगत सिंह, भास्कर, सोभन, शुभम आदि मौजूद रहे।

प्रभारी निरीक्षक आरपीएफ ऋषिकेश अनिल कुमार ने बताया कि योगनगरी रेलवे स्टेशन और ऋषिकेश रेलवे स्टेशन के अंदर प्लेटफार्म और बाहर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। हर आने जाने वाले युवाओं पर नजर रखी जा रही है। सभी जवानों को अलर्ट पर रखा गया है।