गाजियाबाद के इस 45 साल के शख्स के पेट में कैसे पहुंचा सेक्स टॉय? हैरान कर देने वाला मामला
BREAKING
जोशी ने गांव बड़ी करौर में रेत माफिया के हमले में घायल लोगों का कुशल-क्षेम जाना एमटीवी स्प्लिट्सविला एक्स 5 - एक्सयूज़ मी प्लीज़ के प्रतियोगी लक्ष्य, उन्नति और दिग्विजय राठी चंडीगढ़ में अपने फैन्स से मिले!* चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा गांव रायपुर खुर्द में चलाई जा रही अवैध निर्माण पर कार्रवाई का स्थानीय लोगों द्वारा जबरदस्त विरोध केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का यूपी में एक्सीडेंट; अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर निकले थे, तेज रफ्तार गाड़ी ने पीछे से मारी कार में टक्कर गुजरात के स्कूल में खौफनाक हादसा; क्लासरूम में लंच कर रहे थे बच्चे, अचानक गिर पड़ी दीवार, वीडियो में कैद पूरा मंजर देखिए

गाजियाबाद के इस 45 साल के शख्स के पेट में कैसे पहुंचा सेक्स टॉय? हैरान कर देने वाला मामला

Sex Toy came out of Stomach

Sex Toy came out of Stomach

Sex Toy came out of Stomach: उत्तर प्रदेश गाजियाबाद से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जहां एक शख्स के पेट में Sex toy फंस गया. जिसके बाद उसके पेट में दर्द उठा और मल त्यागने करने में उसे दिक्कत आने लगी. उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. मरीज के एक्सरे के बाद पता चला कि उसके पेट में Sex toy फंसा हुआ है. तुंरत ही मरीज की सर्जरी की गई और उसे बाहर निकाला गया. 

डॉक्टर ने बताया कि मरीज की उम्र करीब 45 साल थी वो गुजरात से इलाज कराने यहां आया था. मरीज के पेट में दर्द था और वह मल भी त्याग नहीं कर पा रहा था. एक्सरे के बाद पता चला कि मरीज के पेट में कुछ चीज फंसी हुई है. मरीज ने डॉक्टर को बताया कि उसने अपनी गुदा से बाह्य वस्तु डाली थी. इसके बाद कोलोनोस्कोपी उसे निकालने का प्रयास किया गया. लेकिन कामयाबी नहीं मिली. क्योंकि बह्य वस्तु चिकनी और फिसलन भरी थी. 

शख्स के पेट में फंसा  Sex toy

 

इसके बाद अस्पताल के विशेषज्ञ सर्जन विजय पांडेय और गैस्ट्रोएंटोलाजिस्ट डॉक्टर कुणाल दास ने एक लंबी चिकित्सीय प्रक्रिया के बाद सर्जरी के जरिए मरीज के पेट में फंसे Sex toy को बाहर निकाला गया.

डॉक्टर ने सर्जरी के जरिए Sex toy निकाला

इलाज करने वाले डॉक्टर के अनुसार ऐसे मामले अक्सर कम ही देखने में आते हैं हालांकि तस्करी रैकेट और अपराधियों द्वारा किसी वस्तु को छुपाने के दौरान ऐसे मामले सामने आने जरुर आते हैं. डॉक्टर कुणाल दास ने बताया कि मरीज के सफल ऑपरेशन के बाद उसे कुछ दिन ऑब्जरवेशन में रखने के बाद छुट्टी दे दी गई.