Historical importance of today's date '21 June'
Historical importance of today's date '21 June'

Historical importance of today's date '21 June'

आज की तारीख '21 जून ' का ऐतिहासिक महत्व

Historical importance of today's date – प्रत्येक दिन विश्व में कुछ न कुछ ऐसा होता है जो की एक महत्वपूर्ण इतिहास (Important History) बन जाता है जैसे, खेल जगत में रिकॉर्ड बनना, किसी प्रसिद्द व्यक्ति का जन्म व् मृत्यु, आज के दिन के महत्वपूर्ण दिवस, विज्ञान में अविष्कार, आदि । भारत (India) और विश्व (World) में आज के दिन बहुत सी ऐसी प्रमुख ऐतिहासिक घटनायें (Historical Events) हुई जिनका जिक्र आज भी इतिहास (History) के पन्नो में किया गया है । 

1756- जॉन जेड हाॅलवेल के नेतृत्व वाली अंग्रेज सैन्य टुकड़ी ने बंगाल के नबाव सिराजउद्दौला के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

1768- चिकित्सा विज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल करने वाले जॉन आर्चर पहले अमेरिकी बने।

1834- अमेरिकी आविष्कारक और व्यवसायी साइरस हॉल मैककॉर्मिक कटाई मशीन का पेटेंट किया।

1862- ज्ञानेंद्र मोहन टैगोर 'लिंकन्स हिल्स' से वकालत की डिग्री हासिल करने वाले पहले भारतीय बने।

1911- जहाज आरएमएस ओलंपिक ने 5 दिनों, 16 घंटे और 42 मिनट की यात्रा के बाद न्यूयॉर्क में अपनी पहली ट्रान्साटलांटिक यात्रा पूरी की।

1948- सी.राज गोपालाचारी भारत के अंतिम गर्वनर जनरल बने।

1953- पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो का जन्म।

1957- जॉन डायफेनबकर कनाडा के 13 वें प्रधानमंत्री बने।

1975- वेस्टइंडीज टीम ने पहला क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने का कारनामा किया।

1977- मुस्तफा बुलेंट एसविट ने तुर्की में सरकार का गठन किया।

1981- दक्षिण अफ्रीकी पुलिस ने दक्षिण अफ्रीकी युवा क्रांतिकारी परिषद के आठ नेताओं को गिरफ्तार किया।

1991- पी.वी.नरसिम्हा राव भारत के नौवें प्रधानमंत्री बने।

2009- भारत की बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट का खिताब जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं।

2012- ऑस्ट्रेलिया जा रही नौका के डूबने से 90 शरणार्थियों की मौत।

2013- पाकिस्तान के पेशावर में एक मस्जिद में बम विस्फोट में बड़ी संख्या में लाेगों की मौत।

2014- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर विश्व भर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।

2015- 21 जून, 2015 को पहला अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया गया था, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में 35 हजार से अधिक लोगों और 84 देशों के प्रतिनिधियों ने दिल्‍ली के राजपथ पर योग के 21 आसन किए थे।