Himachal's daughter conquered Mount Everest, got success for the second time
Baljeet-Kaur

Himachal's daughter conquered Mount Everest, got success for the second time

हिमाचल की बेटी ने फतह की माउंट एवरेस्ट, दूसरी बार में मिली सफलता

सोलन। हिमाचल के जिला सोलन की बेटी पर्वतारोही बलजीत कौर ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फतह कर लिया है। एवरेस्ट को फतह करने का यह उनका दूसरा प्रयास था। 2016 में भी वे एवरेस्ट मिशन में शामिल थीं, लेकिन तब ऑक्सीजन मास्क में खराबी आने की वजह से उन्हें लक्ष्य से सिर्फ 300 मीटर से लौटना पड़ा था।

बलजीत ने 17 मई की रात करीब 10 बजे एवरेस्ट पर चढ़ाई शुरू की। कई संकटों को पार करते हुए चार दिन के बाद शनिवार को सुबह 4.30 बजे वे एवरेस्ट पर पहुंच गईं। इस दौरान उनके साथ गाइड मिगमा शेरपा भी रहे। उन्हें वापस लौटने में 3-4 दिन लगेंगे।

इसी साल बीते 28 अप्रैल को बलजीत ने 8091 मीटर ऊंचे माउंट अन्नपूर्णा और 12 मई को 8566 मीटर ऊंची चोटी माउंट कंचनजंगा पर भी चढ़ाई की है। पिछले साल मई में एवरेस्ट की छोटी बहन कही जाने वाली पुमारी चोटी पर भी चढ़ाई की थी।

सोलन के ममलीग की हैं बलजीत

बलजीत सोलन जिला के कुनिहार के पास छोटे से गांव ममलीग की रहने वाली हैं। सोलन कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही उन्हें पर्वतारोही बनने जुनून सवार हुआ। इसके बाद उन्होंने इसके लिए कठिन ट्रेनिंग की। अब दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फतेह करने का अपना सपना पूरा किया। एवरेस्ट पर चढ़ाई के इस सफर में सोलन की कई समाज सेवी संस्थाओं ने भी उनकी सहायता की है।