Former DGP appeared before SIT
Sumedh-Saini

Former DGP appeared before SIT

एसआईटी के सामने पेश हुए पूर्व डीजीपी, देखें क्या है पूरा मामला

चंडीगढ़। वर्ष 2015 में कोटकपूरा (Kotkapura) में हुए गोलीकांड केस में पूछताछ के लिए पंजाब पुलिस के पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी (Sumedh Saini) चंडीगढ़ में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) के आगे पेश हो गए हैं। उनसे पुलिस की एसआईटी कोटकपूरा (Kotkapura) गोलीकांड के केस में पूछताछ कर रही है। यह गोलीकांड श्री गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी से जुड़ा हुआ है। जहां बेअदबी के विरोध में प्रदर्शन कर रही सिख संगत पर पुलिस ने फायरिंग की थी। सैनी उस वक्त पंजाब के डीजीपी थे। घटना के दिन पुलिस ने किसके ऑर्डर पर फायरिंग की, इसके बारे में सैनी से पूछा जा रहा है।

सुमेध सैनी ने केस को किसी केंद्रीय एजेंसी को ट्रांसफर करने की मांग की थी

पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी (Sumedh Saini) और दूसरे आरोपियों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसमें इस केस को किसी केंद्रीय एजेंसी को ट्रांसफर करने की मांग की थी। हालांकि हाईकोर्ट ने इसे खारिज कर दिया। जिसके बाद एडीजीपी एलके यादव की अगुआई वाली एसआईटी ने सैनी को पूछताछ के लिए सम्मन भेजा था। हाईकोर्ट ने सैनी की याचिका खारिज करते हुए पंजाब पुलिस को 2015 में हुए कोटकपूरा  (Kotkapura)  और बहबल कलां गोलीकांड की जांच तेज करने को कहा था। कोटकपूरा गोलीकांड की जांच एडीजीपी की अगुआई में हो रही है। वहीं बहबल कलां गोलीकांड की जांच आईजी नौनिहाल सिंह की अगुआई वाली टीम कर रही है।

25 दिन पहले भी पूछताछ के लिए बुलाये गये थे पूर्व डीजीपी

इससे पहले सुमेध सैनी (Sumedh Saini) को पूछताछ के लिए करीब 25 दिन पहले बुलाया गया था। उस वक्त उन्होंने 3 हफ्ते का वक्त मांगा था। सैनी ने एसआईटी को लेटर भेजा था। जिसमें कहा कि वह किसी कोर्ट केस के मामले में दिल्ली में हैं, इसलिए हाजिर नहीं हो सकते। उसके बाद आज उन्हें फिर बुलाया गया है।