बिग ब्रेकिंग: जींद में पूर्व सरपंच और पशु व्यापारी के घर से आठ करोड़ की पुरानी करंसी बरामद
बिग ब्रेकिंग: जींद में पूर्व सरपंच और पशु व्यापारी के घर से आठ करोड़ की पुरानी करंसी बरामद

बिग ब्रेकिंग: जींद में पूर्व सरपंच और पशु व्यापारी के घर से आठ करोड़ की पुरानी करंसी बरामद

बिग ब्रेकिंग: जींद में पूर्व सरपंच और पशु व्यापारी के घर से आठ करोड़ की पुरानी करंसी बरामद

जींद: यहां गांव हाडवा में रविवार देर शाम पुलिस ने छापेमारी करके गांव के पूर्व सरंपच और पशु व्यापारी संजय के घर से लगभग आठ करोड़ की पुरानी करंसी बरामद की है। ये करंसी कट्टों में भरी हुई थी। आरोपित के घर से रंगीन फोटोस्टेट मशीन, नोट काटने का कटर, सफेद पेपर के रोल व विशेष इंक के डिब्बे भी बरामद किए गए हैं। पुलिस ने मौके से चार लोगों को पकड़ा है और ये सभी हरियाणा, उत्तरप्रदेश समेत कई राज्यों में पशुओं की खरीद- फरोख्त का काम करते हैं। आरोपित इतनी मात्रा में करंसी कहां से लेकर आए और इसे क्यों रखा हुआ था, इस बारे में पुलिस की पूछताछ जारी है।

इससे पूर्व पुलिस ने गुप्त सूचना मिलने के बाद एएसपी कुलदीप सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया और संजय के घर छापा मारा। इस दौरान नायब तहसीलदार लोकेश कुमार बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट मौजूद रहे। छापे के दौरान संजय के घर पर गांव जयसिंहपुरा निवासी नवदीप, गांव दुड़ाना निवासी मासकीन और असंध निवासी भारतभूषण भी बैठे हुए थे। जब पुलिस ने घर की तलाशी ली तो वहां पर एक-एक हजार के पुराने नोटों से भरे तीन बड़े काले बैग, तीन कट्टे, दो कैरी बैग मिले। पुलिस ने इन नोटों व अन्य सामान को अपने कब्जे में ले चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

-----------

घर पर ही करंसी छापने की आशंका

आरोपित संजय के घर से बरामद एक रंगीन फोटो स्टेट मशीन, नोट काटने का कटर, सफेद पेपर के रोल व डिब्बे में नोट छपाई में प्रयोग होने वाली इंक मिलने से पुलिस को आशंका है कि आरोपित नकली नोट छापने का भी काम करते हैं। पुलिस को कट्टों व बैगों में भरी हुई पुरानी करंसी पर भी शंका है कि कहीं यह आरोपितों ने खुद ही तो नहीं छापी। ये भी आशंका है कि आरोपितों के दूसरे देशों से भी संपर्क हो सकते हैं और शायद वे बाहर के देशों से बैन हो चुकी करंसी को बदलने का काम करते हों।

------

'फिलहाल करंसी की जांच की जा रही है कि करंसी को प्रिटर के माध्यम से छापा गया है या पुरानी करंसी के ये असली नोट हैं। '

कुलदीप, एएसपी जींद।