They used to extort money from families on the pretext of marrying innocent girls and taking them to America.
Chandigarh-Crime

They used to extort money from families on the pretext of marrying innocent girls and taking them to

चंडीगढ़ से बड़ी ख़बर , मासूम लड़कियों से शादी कर अमेरिका साथ ले जाने का झांसा देकर परिवारों वालों से पैसे वसूल करते थे

रंजीत शम्मी

चंडीगढ़। थाना-11 पुलिस ने मासूम लड़कियों से शादी करने और संयुक्त राज्य अमेरिका ले जाने का झांसा देकर उनसे और उनके परिवार से पैसे वसूल करने के आरोप में मुख्यआरोपी समेत 3 सह आरोपियो को भी गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान डिवीजन नंबर सात जालंधर के रहने वाले 36 वर्षीय जगजीत सिंह और सह आरोपी जिला पटियाला के रहने वाले ट्रेन सेट वर्षीय मनजीत सिंह डिवीजन नंबर छह जालंधर के रहने वाले 36 वर्षीय परमजीत सिंह और नई दिल्ली के रहने वाले मोहम्मद कैफ के रूप में हुई है पुलिस ने मामले में पकड़े गए मुख्य आरोपी जालंधर के रहने वाले जगजीत सिंह को 8 सितंबर को गिरफ्तार किया था और आरोपी को पुलिस ने जिला अदालत में पेश किया अदालत ने आरोपी को 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया रिमांड के दौरान पुलिस ने मामले में तीन अन्य सह आरोपियों को गिरफ्तार किया था। मामले में पकड़े गए तीसरे सह आरोपी तो पुलिस ने 11 सितंबर को दिल्ली से गिरफ्तार किया पुलिस ने मामले में तेरा पासपोर्ट बरामद किए गए पकड़े गए आरोपी मोहम्मद कैफ को पुलिस ने जिला अदालत में पेश कर 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था। पुलिस मामले में अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए दिल्ली पटियाला जालंधर और पंजाब के अन्य इलाकों में पुलिस पार्टी भेजी गई है ताकि पुलिस द्वारा एक बड़े नेटवर्क का खुलासा कर सकें। जानकारी के मुताबिक पीड़िता शिकायतकर्ता 36 वर्षीय ने पुलिस को शिकायत में बताया कि पकड़ा गया आरोपी जगजीत सिंह उर्फ सोनू से मिली थी उसने पीड़िता को झांसे में लेते हुए कहा था कि पंजाब वैवाहिक साइड के माध्यम से जिसने उन्हें अमेरिकी नागरिकता के रूप में पेश किया।  03 जून 2022 को उसकी शादी आरोपी जगजीत सिंह के साथ रीति रिवाज के अनुसार एक पैलेस खरड़ में संपन्न हुई।  उसके माता-पिता ने शादी में 20 लाख खर्च किए। और उसके माता-पिता के साथ-साथ रिश्तेदारों ने भी पर्याप्त मूल्यवान चीजें दीं।  शादी के तुरंत बाद उसका पति चंडीगढ़ के सेक्टर-24 में अपने  घर में रहने लगा।  बाद में उसने शिकायतकर्ता के साथ-साथ उसके रिश्तेदारों को उसके माध्यम से वीजा आवेदन करने के लिए जोर दिया। और सभी पासपोर्ट एकत्र किए। और 75 लाख रुपये की मांग की।  उक्त पैसे मिलने के बाद आरोपी जगजीत सिंह किसी न किसी बहाने उसके माता-पिता और भाई से और पैसे की मांग करने लगा।.  आरोपी जगजीत सिंह पीड़िता परिवार वालों पर दबाव बनाने लगा कि अगर वे उसे पैसे नहीं देंगे तो वह मुझे छोड़ देगा।  अपनी नाजायज मांगों को भी पूरा करने के बाद आरोपी जगजीत सिंह ने उसे मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।  बाद में उसे पता चला कि आरोपी जगजीत सिंह पहले से ही जालंधर निवासी एक लड़की के साथ शादीशुदा था। और  पुलिस ने रतन कुमार नई दिल्ली के नाम से एक नकली आधार कार्ड और पैन कार्ड और जोशन सिंह की फोटोकॉपी बरामद की है। पूछताछ में पता चला कि आरोपी जगजीत सिंह सह-भागीदार मोहम्मद के साथ ट्रेवल एजेंट का काम करता था। और उन्होंने उक्त मामले के पंजीकरण से पहले 4 शादियां की हैं।

 

आरोपी जगजीत सिंह ने की शादी की डिटेल

 2007 में आरोपी जगजीत सिंह ने शादी की और 3 महीने बाद उससे तलाक ले लिया।

 वर्ष 2009 में, आरोपी जगजीत सिंह ने शादी की और विवाह से उनकी एक बेटी है।

 वर्ष 2017 में आरोपी जगजीत सिंह ने निवासी पंजाब महिला से शादी की।

साल 2022 में आरोपी जगजीत सिंह ने शादी की।

 वर्ष 2022 में आरोपी जगजीत सिंह ने वर्तमान शिकायतकर्ता से शादी की।

इसके अलावा आरोपियों के खिलाफ दर्ज मामलों का विवरण इस प्रकार है:

 पीएस-सिटी फगवाड़ा में आईपीसी की धारा 498-ए, 420, 120-बी, 419,494,495,465,467,468,471,406,376,506, 376-डी (कपूरथला जेल में 2 साल से अधिक) 

 शिकायत संख्या  7672 दिनांक 02.12.2017, 2017 की प्राथमिकी संख्या 0291 पी.एस.  कोतवाली, कपूरथला, जेल में मोबाइल इस्तेमाल करने वाले आरोपितों के खिलाफ अलग से मामला दर्ज,

  आरोपी को मामले में 7 महीने बाद जमानत मिली, तब वह यूएसए गया था और वर्ष 2012 में उसे पीओ घोषित किया गया था। और यूएसए से भारत भेजा गया था।

 9अप्रैल मामले पर  376,420,465,467,468,471 आईपीसी पीएस-डिवीजन नं।  7 जालंधर ने आरोपी के खिलाफ दर्ज किया। जिसमें उसे 9 जुलाई.17 को गिरफ्तार किया गया। और 9 जुलाई.17 से 30 मार्च 2022 तक कपूरथला और नाभा जेल में भी बंद कर दिया गया। उसके बाद 30 मार्च 22 को उसे भारत के  सर्वोच्च न्यायालय से जमानत मिल गई।