food black marketing: योगी सरकार ने खाद्यान्न कालाबाजारियों पर कसा शिकंजा
food black marketing: योगी सरकार ने खाद्यान्न कालाबाजारियों पर कसा शिकंजा

food black marketing: योगी सरकार ने खाद्यान्न कालाबाजारियों पर कसा शिकंजा

food black marketing: योगी सरकार ने खाद्यान्न कालाबाजारियों पर कसा शिकंजा

विजय कुमार निगम:लखनऊ:  food black marketing: गरीबों के राशन पर डाका डालने वाले खाद्यान्न माफियाओं पर योगी सरकार ने शिकंजा कस दिया है। खाद्यान्न की कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए उसकी ऑनलाइन मॉनिटरिंग शुरू हो गई है। सिंगल स्टेज डोर स्टेप डिलीवरी के जरिए बरेली मंडल में खाद्यान्न ढोने वाले सभी गाड़ियों पर जीपीएस लगा दिया गया है। जीपीएस के जरिए मॉनिटरिंग की जाएगी। इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमांड सेंटर के जरिए एफसीआई के गोदामों से लेकर कोटेदारों की दुकानों तक पहुंचने तक ट्रैकिंग होगी। इससे बरेली मंडल में 5.87 करोड़ की एक साल में राजस्व की बचत होगी।

food black marketing: सिंगल स्टेज डोर स्टेज डिलीवरी

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत चलाए जा रहे सिंगल स्टेज डोर स्टेज डिलीवरी के तहत बरेली मंडल में करीब 20839 मीट्रिक टन गेहूं और 31258 मीट्रिक टन चावल हर माह गरीबों को बांटा जाता है। पहले एफसीआई के गोदामों से गरीबों का खाद्यान्न जिलों के गोदामों पहुंचता था। इसके बाद ब्लॉक के गोदामों में जाता था। ब्लॉक गोदामों से राशन की दुकानों तक पहुंचाया जाता था। इसकी वजह से कालाबाजारी होती थी। बार-बार ट्रांसपोर्ट बदलने की वजह से लाखों रुपए का खर्च आता था। योगी सरकार के सिंगल स्टेज डोर स्टेज डिलीवरी सिस्टम लागू होने की वजह से सरकार को अकेले बरेली मंडल में ही हर साल करीब 5. 87 करोड के राजस्व की बचत होगी। बरेली मंडल की राशन की दुकानों तक गरीबों का गेहूं चावल पहुंचाने के लिए 328 ट्रक लगाये गये हैं। सभी ट्रकों को जीपीएस से लैस किया गया है। इनकी ट्रैकिंग इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमांड सेंटर के जरिए की जा रही है। गरीबों के खाद्यान्न पर सरकार की सीधी नजर है। बरेली मंडल में खाद्यान्न की कालाबाजारी करने वाले 18 माफियाओं के खिलाफ एक साल में मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं।
राशन की दुकानों तक पहुंच रही है गाड़ी