musewal10

मूसेवाला हत्याकांड में फतेहाबाद से तीसरी गिरफ्तारी, देखें कहा ठहरे थे संदिग्घ 

फतेहाबाद। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (Punjabi Singer Sidhu Moosewala) हत्याकांड में रविवार रात को पंजाब पुलिस ने एक बार फिर से हरियाणा के फतेहाबाद में दबिश दी। मोगा पुलिस ने सीआईए की मदद से मुस्सावाली गांव के देवेंद्र उर्फ काला को गिरफ्तार किया। मूसेवाला हत्या कांड में फतेहाबाद से तीसरे व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है। इससे पहले पुलिस भिरड़ाना से पवन व नसीब को अरेस्ट कर चुकी है। इन दोनों से मिली जानकारी के आधार पर ही काला को पकड़ा गया है।

बता दें कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या 29 मई को की गई थी। वारदात में एक बोलेरो गाड़ी का भी इस्तेमाल हुआ था, जो कि 25 मई को फतेहाबाद में रतिया चुंगी से होते हुए हंसापुर के रास्ते पंजाब गई थी। इस गाड़ी से ही मूसेवाला हत्याकांड के तार पहले फतेहाबाद, फिर सोनीपत और इसके बाद सिरसा से जुड़े हैं। बोलेरो सवार बदमाशों ने मूसेवाला की रेकी की थी और उसके मर्डर के वक्त भी गाड़ी साथ में थी।


मुस्सावाली में ठहरे थे दो संदिग्घ

पंजाब की मोगा पुलिस की एक टीम ने सीआईए फतेहाबाद पुलिस को साथ लेकर रविवार रात को मुस्सावाली गांव में छापा मार कर एक युवक देवेंद्र उर्फ काला को गिरफ्तार किया औा साथ ले गई। मूसेवाला हत्याकांड की जांच में लगी पुलिस को इनपुट मिला था कि देवेंद्र उर्फ काला ने पंजाब के रहने वाले दो व्यक्तियों केशव और चरणजीत सिंह को 16 व 17 मई को अपने घर ठहराया था। ये दोनों पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला मर्डर मामले संलिप्त बताए जा रहे हैं। इसके बारे में पुलिस को फतेहाबाद से ही गिरफ्तार हुए पवन प नसीब ने जानकारी दी थी।

बताया गया है कि पवन का नौकर नसीब बोलेरो गाडंी को राजस्थान के रावतसर से फतेहाबाद लाया था। रतिया पुल के पास उसने यह गाड़ी चरणजीत सिंह व केशव को सौंपी थी। सोनीपत के कुख्यात बदमाश प्रियव्रत फौजी और उसके साथी अंकित जाटी सेरसा भी उनके साथ गाड़ी में थे। ये 25 मई को पंजाब रवाना हुए थे और बीसला में गाड़ी में तेल डलवाते हुए एक सीसीटीवी में कैद हो गए थे। पंजाब पुलिस दोनों की गिरफ्तारी के लिए सोनीपत में डेरा डाले है।


नशा सप्लाई में काला पर 7 केस

जानकारी ये भी सामने आयी है कि चरणजीत नाम का शख्स बोलेरो गाड़ी में बदमाशों को लेकर पंजाब के मानसा गया था। इससे पहले चरणजीत अपने साथी केशव के साथ मुस्सावाली गांव में देवेंद्र उर्फ काला के पास ठहरा था। पवन को भी इसकी जानकारी थी। देवेंद्र उर्फ काला पर फतेहाबाद सदर थाना में हृष्ठक्कस् एक्ट में 6 के मामले दर्ज हैं और पंजाब में भी 2 किलोग्राम अफीम का भी केस दर्ज है।