पंजाब यूनिवर्सिटी ने किया डीएवी कालेज के प्रिंसिपल मसले का पटाक्षेप

Punjab CM

पंजाब यूनिवर्सिटी ने किया डीएवी कालेज के प्रिंसिपल मसले का पटाक्षेप

Punjab University

Punjab University

60 साल की उम्र पूरी कर प्रिंसिपल पवन शर्मा हो चुके हैं 30 सितंबर को रिटायर
यूनिवर्सिटी ने किया स्पष्ट, आगे से बतौर प्रिंसिपल पवन कुमार शर्मा के दस्तखत वाला कोई दस्तावेज नहीं करेंगे स्वीकार

चंडीगढ़, 13 अक्तूबर (साजन शर्मा)
Punjab University: पंजाब यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सेक्टर 10 के डीएवी कालेज के प्रिंसिपल के मसले का पटाक्षेप कर दिया है। यूनिवर्सिटी ने स्पष्ट कर दिया है कि डीएवी कालेज, सेक्टर 10 के प्रिंसिपल पवन शर्मा 30 सितंबर 2022 को रिटायर हो चुके हैं लिहाजा इनकी ओर से दस्तखत किया यूनिवर्सिटी के साथ किसी तरह का पत्राचार अब स्वीकार नहीं किया जाएगा। यूनिवर्सिटी ने यह भी स्पष्ट किया है कि कालेज में जो भी सीनियर मोस्ट फैकल्टी है, उसे तत्काल प्रभाव से प्रिंसिपल का प्रभार सौंपा जाए और इसका ब्यौरा तुरंत पीयू को भेजा जाए। ऐसे में यह देखने योग्य होगा कि कालेज की गवर्निंग बॉडी यूनिवर्सिटी के आदेश अनुसार कब प्रिंसिपल की पोस्ट के लिए विज्ञापन निकालती है और कितनी देर में नये प्रिंसिपल की तैनाती होती है।
डीएवी कालेज के प्रिंसिपल का विवाद तब शुरू हुआ जब 30 सितंबर 2022 को वह रिटायर हो गए और डीएवी कालेज मैनेजमेंट कमेटी ने उन्हें तीन महीने का आगे उनके अनुरोध पर एक्सटेंशन दे दिया। पवन शर्मा ने मैनेजमेंट से गुहार लगाई थी कि हो सकता है कि अगले कुछ दिनों में रिटायरमेंट की उम्र 65 साल हो जाए लिहाजा उन्हें एक्सटेंशन दे दिया जाए। यहां से विवाद शुरू हो गया। कालेज के बहुत से टीचर इसके खिलाफ खुलकर सामने आ गए। उनका कहना था कि डीएवी मैनेजमेंट कमेटी ही इसमें सर्वेसर्वा नहीं है बल्कि दो अन्य पक्ष भी हैं। एक पक्ष पंजाब यूनिवर्सिटी है जिसके अंडर कालेज एफीलिएटिड है जबकि दूसरा पक्ष डायरेक्टर सैकेंडरी एजूकेशन, चंडीगढ़ प्रशासन है। दोनों पक्षों की राय मानना भी इसमें जरूरी है। फिलहाल रिटायरमेंट की उम्र 60 साल है तो ऐसे में डीएवी मैनेजमेंट कमेटी का तीन माह का एक्सटेंशन देना समझ से परे है व नियमों के पूरी तरह विपरीत है। पवन शर्मा प्रिंसिपल रहेंगे या नहीं इस विवाद का पंजाब यूनिवर्सिटी प्रशासन ने 10 अक्तूबर 2022 को पूरी तरह से पटाक्षेप कर दिया जब डिप्टी रजिस्ट्रार कालेज की तरफ से कालेज के डायरेक्टर व गवर्निंग बॉडी को पत्र लिखा गया। इसमें स्पष्ट कर दिया गया कि डीएवी कालेज के प्रिंसिपल पवन शर्मा की जन्मतिथि के मुताबिक उनकी रिटायरमेंट की तारीख 30 सितंबर 2022 थी। इसको देखते हुए आपको सलाह दी जाती है कि तत्काल प्रभाव से रेगुलर बेसिस पर कालेज के प्रिंसिपल की पोस्ट का विज्ञापन निकाला जाए और इसे एक तय समय सीमा के भीतर भरा जाए। इस पत्र में पंजाब यूनिवर्सिटी कैलेंडर वॉल्यूम-1, पेज नंबर 172 पर प्वाइंट नंबर 7 का हवाला दिया गया है। इसमें लिखा है कि पंजाब यूनिवर्सिटी से एफीलिएटिड नॉन गवर्नमेंट कालेजों में सभी होल टाइम टीचर 60 साल की उम्र में रिटायर होंगे। इसके बाद कोई एक्सटेंशन नहीं दी जा सकती। इस रूल को देखते हुए तत्काल प्रभाव से डीएवी कालेज, सेक्टर 10 में प्रिंसिपल का प्रभार सीनियर मोस्ट फैकल्टी मेंबर को सौंपा जाए। पंजाब यूनिवर्सिटी आगे से प्रिंसिपल पवन कुमार शर्मा के दस्तखत किये किसी कागज को एंटरटेन नहीं करेगी।