पीयू के वैज्ञानिकों ने तैयार की ऐसी डाई जो नहीं पहुंचायेगी शरीर को नुकसान

Punjab CM

पीयू के वैज्ञानिकों ने तैयार की ऐसी डाई जो नहीं पहुंचायेगी शरीर को नुकसान

Prepared Such a Dye

Prepared Such a Dye

दुनिया की सबसे बड़ी फ्रांस की कॉस्मेटिक कंपनी लॉरियल ने इस प्रोडक्ट को लेने की इच्छा जताई
पंजाब विवि के माइक्रो बॉयोलॉजी विभाग के दो वैज्ञानिक प्रो. नवीन गुप्ता व प्रो. प्रिंस शर्मा बीते दस साल से कर रहे इस पर काम

चंडीगढ़, 26 अक्तूबर (साजन शर्मा): पंजाब विश्वविद्यालय के दो वैज्ञानिकों ने ऐसी रसायन मुक्त डाई तैयार की है जो शरीर के तमाम अंगों के साथ साथ बालों व त्वचा के लिए भी नुकसानदायक नहीं है। इस डाई को खरीदने में दुनिया की सबसे बड़ी कॉस्मेटिक कंपनी लोरियल ने इच्छा जताई है। सैंपल लेने के लिए कंपनी जल्द पंजाब यूनिवर्सिटी के माइक्रोबॉयोलॉजी की उस लेबोरट्री में पहुंच रही है जहां विभाग के प्रो. नवीन गुप्ता व प्रो. प्रिंस की अगुवाई में इस पर काम चल रहा है। प्रो. नवीन ने बताया कि अभी तक उन्होंने जो ट्रॉयल किये हैं उसमें यह डाई पूरी तरह से सुरक्षा के मापदंडों पर खरी उतरी है।

यह पढ़ें: हरियाणा से नॉन-एससीएस कोटे से 4 अधिकारी बने आईएएस

प्रो. नवीन के मुताबिक अभी बाजार में जो डाई प्रचलन में हैं उनमें बड़ी मात्रा में रसायन (कैमिकल) होते हैं जो शरीर के अन्य अंगों के साथ साथ बालों व त्वचा के लिए भी घातक हैं। बाल रंगने की इस डाई में पीपीडी के अलावा हाइड्रोजन पर-ऑक्साइड व अमोनिया रहता है जो कई तरह से नुकसानदायक है। अमोनिया को तो फिलहाल उपलब्ध डाई में डाई तैयार करने वाली कंपनियों ने मात्रा में काफी घटा दिया लेकिन बाकि दोनों तत्वों को कम करने या बिलकुल न प्रयोग करने का कोई विकल्प वैज्ञानिकों के पास नहीं है। प्रो. नवीन के अनुसार उन्होंने पीपीडी और हाइड्रोजन पर-ऑक्साइड को भी इस डाई में से निकालने को लेकर काम शुरू किया ताकि आम लोग बगैर नुकसान के इसे प्रयोग कर सकें। पंजाब यूनिवर्सिटी के माइक्रो-बायोलॉजी लैब में करीब दस से ग्यारह साल पहले इस पर काम शुरू हुआ। 

यह पढ़ें: हरियाणा सरकार के 8 साल पूरे होने पर प्रदेश को मनोहर लाल का तोहफ़ा