लोगों का फतवा सर-माथे - आप
लोगों का फतवा सर-माथे - आप

लोगों का फतवा सर-माथे - आप

लोगों का फतवा सर-माथे - आप

...बेहद कड़े मुकाबले में हमारी हार हुई, कांग्रेस-अकाली-बीजेपी की तो जमानत भी नहीं बची - मलविंदर कंग

...आप सरकार ने अभी काम करना शुरू ही किया है, आने वाले दिनों में लोगों पर दिखेगा काम का असर - मलविंदर कंग

...हार से घबराने वाली पार्टी नहीं है 'आप', हमने पहले भी बहुत हार-जीत देखे - मलविंदर कंग

चंडीगढ़/संगरूर, 26 जून

संगरूर उपचुनाव के नतीजे पर आम आदमी पार्टी(आप) ने कहा कि लोगों के फतवे का हम सर झुका कर सम्मान करते हैं। रविवार को पार्टी मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए 'आप' पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने सिमरनजीत सिंह मान को जीत की बधाई दी और कहा की बेहद कड़े मुकाबले में आप उम्मीदवार की हार हुई है।

कंग ने कहा कि इस चुनाव में आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 2019 लोकसभा चुनाव की तुलना में मात्र 2% कम हुआ है। जबकि अकाली दल, कांग्रेस और भाजपा की जमानत जब्त हो गई। इस बार आम आदमी पार्टी को 34.65% वोट मिले हैं, वहीं बीजेपी को 9%, कांग्रेस को 11 और अकाली को 6 प्रतिशत वोट मिले हैं। कांग्रेस का वोट प्रतिशत 2019 लोकसभा में 27% था,जो इस चुनाव में घटकर सिर्फ 11% रह गया है। अकाली दल को 2019 में 24% वोट मिले थे जो अब सिर्फ 6% रह गया है। यह दिखाता है की जनता अब रिवायती पार्टियों के साथ नहीं है।

कंग ने कहा कि आम आदमी पार्टी जीत हार से घबराने वाली पार्टी नहीं है। हम लोगों के बीच हैं और आगे भी लोगों के बीच रहेंगे। पार्टी ने पहले भी ऐसे बहुत हार-जीत देखे हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में दिल्ली में हमें एक सीट भी नहीं मिली थी, लेकिन 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 में से 67 सीट जीतकर हमने सरकार बनाई। 2019 लोकसभा चुनाव में भी हमारा प्रदर्शन खराब रहा, लेकिन 2020 में हम दोबारा दिल्ली विधानसभा चुनाव जीते और 2022 में प्रचंड बहुमत के साथ पंजाब में हमारी सरकार बनी।

कंग ने कहा कि पार्टी संगरूर उपचुनाव के नतीजे को बेहद गंभीरता से ले रही है। हम इसकी समीक्षा करेंगे और इस पर विचार करेंगे। आप नेता ने उपचुनाव में हुई बेहद कम वोटिंग को हार का एक बड़ा कारण बताया। उन्होंने कहा कि धान की बिजाई और अत्याधिक गर्मी के कारण लाखों लोगों ने वोटिंग ही नहीं की। उन्होंने कहा कि इस चुनाव से हम सीख लेंगे और आगे और भी मेहनत से जनता के लिए अच्छे काम करेंगे।