Pehowa Heavy Traffic Jam| पिहोवा में ट्रैफिक जाम से लोग बेहाल; केवल कागजों में काम कर रहे पुलिसकर्मी, मौके पर एक्टिव नहीं
BREAKING
जम्मू-कश्मीर में सेना ने आतंकियों का बड़ा हमला रोका; फटाफट एक्शन में आए जवान, ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं, एनकाउंटर जारी सुप्रीम कोर्ट से योगी सरकार को बड़ा झटका; दुकानों पर 'नेम प्लेट' लगाने वाले आदेश पर रोक लगाई, UP समेत 3 राज्यों को नोटिस जारी RSS की गतिविधियों में अब शामिल हो सकेंगे सरकारी कर्मचारी; केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, 58 साल पुराना प्रतिबंध हटाया, कांग्रेस हमलावर "ढाई घंटे तक देश के प्रधानमंत्री का गला घोंटा गया''; संसद के बजट सत्र पर PM मोदी का बयान, पहले ही दिन विपक्ष पर जमकर बरसे चमत्कारिक है भगवान शिव का यह नाम जप; प्रेमानंद महाराज ने बताया- कैसे दिखाता है प्रभाव, महादेव के इस मंत्र को न जपने की दी चेतावनी

पिहोवा में ट्रैफिक जाम से लोग बेहाल; केवल कागजों में काम कर रहे पुलिसकर्मी, मौके पर एक्टिव नहीं, व्यवस्था ध्वस्त

Pehowa Heavy Traffic Jam Haryana News Update

Pehowa Heavy Traffic Jam Haryana News Update

Pehowa Heavy Traffic Jam: पिहोवा के मुख्य परशुराम चौक पर जाम के कारण लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। लोगों का यहां से गुजरना मुश्किल हो रहा है। स्थिति यह है कि इस जाम में फंसने वाली एम्बुलेंस भी आसानी से नहीं निकल सकती। वहीं जाम के कारण थाना सदर से ड्रेन पुल तक सहायता को जाने के लिए पुलिस की गाड़ी भी एक किलोमीटर का सफर तय करने में एक घंटे का समय लेती है। मसलन लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है।

दिलचस्प बात है कि इस परशुराम चौक पर ट्रैफिक पुलिस की ओर से दो कर्मचारी तैनात किए गए हैं। वहीं पर स्थानीय पुलिस की ओर से भी दो कर्मचारी यहां पर तैनात रहते हैं। इनके अलावा सहयोग के लिए होमगार्ड के कर्मचारी भी लगाए हुए हैं परंतु यह सभी कर्मचारी केवल कागजों में ही कार्य कर रहे हैं। शहर में सहायता के लिए तीन ईवी आर पुलिस की गाड़ियां लगाई हुई है। परंतु इनका भी कोई ठिकाना नहीं है। आडे तिरछे खड़े वाहनों के कारण बहुत लंबा जाम लग जाता है। अंबाला रोड कैथल रोड कुरूक्षेत्र रोड तीनों सड़कों पर जाम के कारण हर समय अफरा तफरी की स्थिति बनी रहती है।

वहीं अंबाला रोड पर सरस्वती ड्रेन का पुल टूटा होने के कारण चंडीगढ़ अंबाला जाने वाले सभी वाहनों को परशुराम चौक से होकर ही गुजरना पड़ता है। जिस कारण यहां पर वाहनों का अधिक दबाव बना रहता है। हैरानी की बात है कि प्रतिदिन लगने वाले इस जाम से बेखबर पुलिस प्रशासन के लोग चैन से सोए हुए हैं। जहां इन तीनों सड़कों का इतना बुरा हाल है वही सरस्वती द्वार पर खड़े वाहन चालकों व रेहडी वालों के कारण सड़के जाम रहती है। प्रशासन की नाक के नीचे ही सड़कों के किनारे पर दुकाने लगी हुई हैं।

शिवसेना हिंदुस्तान के प्रदेशाध्यक्ष जागीर मोर रोशन लाल शर्मा सहित अनेक लोगों ने मांग की है की चौक पर पुलिस कर्मचारी लगाए जाएं ताकि लोगो को जाम से छुटकारा मिल सके। जाम में फंसे एम्बुलेंस के मरीजों की जान को भी बचाया जा सके।

रिपोर्ट- सुभाष पौलस्त्य