हरियाणा में फिर से अटके अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले
हरियाणा में फिर से अटके अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले

हरियाणा में फिर से अटके अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले

हरियाणा में फिर से अटके अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले

निकाय चुनाव के कारण प्रदेश में लागू हुई आचार संहिता
निकाय के बाद होंगे पंचायत चुनाव
प्रदेश में ढाई साल से नहीं हुए तबादले

चंडीगढ़, 29 मई। हरियाणा में एक बार फिर से अध्यापकों के तबादले अटक गए हैं। प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण ऑनलाइन तबादले फिर से बीच में रूक गए हैं। जिसे लेकर अध्यापक संगठनों में रोष व्याप्त है। यह लगातार तीसरा साल है जब हरियाणा में अध्यापकों के तबादले नहीं होंगे।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्ष 2016 में शिक्षा विभाग में ऑनलाइन तबादला नीति की शुरुआत करते हुए शिक्षकों के ऑनलाइन तबादले शुरू किए थे। सरकार की इस पारदर्शी नीति का न केवल सरकार ने खूब प्रचार-प्रसार किया, बल्कि देश के अन्य राज्यों ने भी हरियाणा सरकार की इस नीति का अनुसरण किया। मगर हरियाणा में यह नीति वर्ष 2019 के बाद पूरी तरह से ठप हो गई। इसे लेकर अध्यापकों में भी रोष है। इन छह सालों में जेबीटी के केवल एक बार ऑनलाइन तबादले संभव हो पाए हैं। वर्ष 2019 से आज तक ऑनलाइन तबादले न होने को लेकर कई शिक्षक संगठन मंत्रियों और अधिकारियों से मिल चुके हैं। बावजूद इसके तबादला प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई।
अब प्रदेश में निकाय चुनाव के चलते आचार संहिता लागू हो चुकी है। जिस कारण अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले अटक गए हैं, जो अब निकाय चुनाव के बाद किए जाएंगे। निकाय चुनाव को लेकर 46 शहरों में आचार संहिता लागू है। 18 नगर परिषद और 28 नगर पालिकाओं के चुनाव होने हैं। निकाय चुनाव के बाद भी ऑनलाइन तबादले शुरू होने की संभावना बहुत कम है क्योंकि प्रदेश में पंचायती राज संस्थाओं के चुनावों को लेकर आयोग ने तैयारी शुरू कर दी है। जिसके चलते जुलाई माह में पंचायत चुनाव प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। ऐसे में निकट भविष्य में हरियाणा में अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले शुरू होने की संभावना बहुत कम है।
बाक्स----
हरियाणा में भले ही आचार संहिता लागू होने के कारण ऑनलाइन तबादले शुरू नहीं हुए हैं लेकिन इससे जुड़ी औपचारिकताएं लगातार पूरी की जा रही हैं। हाईकोर्ट से क्लीयरेंस मिल चुकी है। अब किसी प्रकार की कानूनी अड़चन नहीं है। ऐसे में निकाय चुनाव के बाद जल्द ही ऑनलाइन तबादले शुरू किए जाएंगे।
डॉ.महावीर सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा विभाग हरियाणा।