अलीगढ़ की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, दो मजदूरों की मौत, 5 घायल
BREAKING
जोशी ने गांव बड़ी करौर में रेत माफिया के हमले में घायल लोगों का कुशल-क्षेम जाना एमटीवी स्प्लिट्सविला एक्स 5 - एक्सयूज़ मी प्लीज़ के प्रतियोगी लक्ष्य, उन्नति और दिग्विजय राठी चंडीगढ़ में अपने फैन्स से मिले!* चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा गांव रायपुर खुर्द में चलाई जा रही अवैध निर्माण पर कार्रवाई का स्थानीय लोगों द्वारा जबरदस्त विरोध केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का यूपी में एक्सीडेंट; अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर निकले थे, तेज रफ्तार गाड़ी ने पीछे से मारी कार में टक्कर गुजरात के स्कूल में खौफनाक हादसा; क्लासरूम में लंच कर रहे थे बच्चे, अचानक गिर पड़ी दीवार, वीडियो में कैद पूरा मंजर देखिए

अलीगढ़ की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, दो मजदूरों की मौत, 5 घायल

Aligarh Factory Blast

Aligarh Factory Blast

अलीगढ़। Aligarh Factory Blast: तालानगरी स्थित मनकामेश्वर स्टील्स फैक्ट्री में शुक्रवार शाम को बड़ा हादसा हुआ। लोहा गलाने के दौरान भट्ठी में विस्फोट हुआ और भीषण आग लग गई। इस हादसे में दो मजदूरों की जलकर मृत्यु हो गई। 

पांच बुरी तरह से झुलस गए। इन्हें गंभीर अवस्था में जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। करीब दो घंटे में आग पर काबू पाया गया। इसके बाद शव निकाले जा सके। 

मलबे में कुछ और लोगों के भी फंसे होने की संभावना जताई जा रही है। इसके चलते देर रात तक तलाशी अभियान चलता रहा। आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। आसपास में फैक्ट्रियां होने के चलते क्षेत्र में दहशत बनी हुई है। घटनास्थल और अस्पताल में लोगों की भीड़ जुटी रही।

यह फैक्ट्री तालानगरी के सेक्टर दो में प्लाट बी-71 व 72 में है, जिसमें स्क्रैप को गलाकर लोहे की सिल्ली बनाई जाती हैं। इसके मालिक मैरिस राेड स्थित दुर्गाबाड़ी निवासी बाबूलाल जैन हैं, जो मूलरूप से आगरा की लोहामंडी के बताए गए हैं। बाबूलाल करीब 20 वर्ष से यह कारोबार कर रहे हैं। 

घटना शाम करीब सवा छह बजे हुई। उस समय भट्ठी पर 10 से अधिक मजदूर लोहा गला रहे थे। कुछ लोग स्क्रैप को इकट्ठा करने व अन्य कार्य कर रहे थे। तभी कोई ऐसा स्क्रैप भट्ठी में डल गया, जिससे तेज आवाज के साथ विस्फोट हुआ। इसके बाद आग लग गई। काम कर रहे मजदूर फंस गए। 

साथी मजदूरों ने पुलिस की मदद से पांच लोगों को बाहर निकलवाया। ये बुरी तरह से झुलस गए थे। कपड़े के साथ खाल तक जल गई थी। इनके नाम बारी मैन हरदुआगंज निवासी हरीशबाबू, हेल्पर सुमित सोलंकी, पप्पू पाल, क्रेन चालक धर्मेंद्र, आपरेटर एटा चुंगी निवासी कालीचरण हैं। 

रात करीब सवा आठ बजे आग बुझा ली गई। इसके बाद जवां क्षेत्र के सुनामई रायपुर निवासी सुभाष चौहान व हरदुआगंज क्षेत्र के भटौला निवासी सतीश ठाकुर को निकाला गया। तब तक उनकी मृत्यु हो गई। 

डीएम विशाख जी. ने बताया कि घायलों को बेहतर उपचार कराया जा रहा है। हादसे का कारण की जांच कराई जा रही है। अलग-अलग टीमें राहत कार्य में लगी हैं।