गुंटूर में जनसेना कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन
BREAKING
अग्निवीर योजना पर सरकार ले सकती है बड़ा फैसला; देश के युवा वर्ग में रोष देखते हुए तैयारी शुरू, तीनों सेनाओं से रिपोर्ट मांगी गई BJP पर RSS का बड़ा बयान; संघ के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने कहा- अहंकार किया तो भगवान राम ने नहीं दी शक्ति, 240 पर रोक दिया हिमाचल में भूकंप के झटके, कुल्लू रहा केंद्र; जानिए रिक्टर स्केल पर कितनी रही तीव्रता, भूकंप आने पर क्या करना चाहिए, क्यों आता है? विजिटिंग कार्ड को मिट्टी में बोने से उगेगा गेंदे के फूल का पौधा, IAS अफसर की इस अनोखी पहल की हो रही तारीफ सोनाक्षी सिन्हा ने पूनम ढिल्लों को भेजा वेडिंग इन्वाइट, एक्ट्रेस ने दी बधाई, जहीर इकबाल को दे डाली ये चेतावनी!

गुंटूर में जनसेना कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

Janasena workers demonstrated

Janasena workers demonstrated

छात्रावास मालिक पर हमला

(अर्थ प्रकाश/ बोम्मा रेडड्डी)

गुंटुर : Janasena workers demonstrated: (आंध्र प्रदेश)  इससे जुड़ा एक वीडियो मीडिया में वायरल हो रहा है जिसमें सामाजिक छात्रावास के मालिक पर हमला किया गया है। जनसेना कार्यकर्ता घुटनों के बल बैठकर पैर छूते हुए वैनम गुंटूर पूर्व: गुंटूर में जनसेना कार्यकर्ताओं की दश्तिकामी लक्ष्मीपु राम। निजी छात्रावास के बोर्ड पर जाति का नाम होने के कारण ( जैसे उत्तर भारत मेंवैष्णो ढाबा लिखते हैंया मिलट्री होटल लिखते हैं इस तरह आंध्र प्रदेश मेंशाकाहारी भोजनालय को ब्राह्मण भोजनालय कहा जाता हैमांसाहारी कोनॉनवेज भोजनालय लिखा जाता है) वैसे ही कुछ लिखा था  जनसेना कार्यकर्ताओं ने छात्रावास के मालिक की पिटाई की और उसे घुटनों के बल बैठा दिया। लोग सेना कार्यकर्ताओं की क्रूरता की निंदा कर रहे हैं। मंगलवार को जनसेना के कुछ कार्यकर्ता लाठी लेकर लक्ष्मीपुरम मुख्य मार्ग पर स्थित एक निजी छात्रावास में घुस गए। छात्रावास के मालिक को बाहर बुलाकर बोर्ड पर समुदाय का नाम हटाने की धमकी दी गई। छात्रावास मालिक ने इनकार कर दिया। इससे गुस्साए जनसेना कार्यकर्ताओं ने छात्रावास मालिक पर भीड़ बनाकर हमला कर दिया। छात्रावास मालिक ने उसे वहां से जाने को कहा लेकिन वह वहां से नहीं गया। इतना ही नहीं जनसेना कार्यकर्ताओं ने छात्रावास मालिक मणि को घुटनों के बल बैठाकर उनके पैर पकड़े।  
      हालांकि, जनसेना कार्यकर्ताओं से डरे छात्रावास के मालिक ने एक कदम पीछे हटते हुए घटना के बारे में पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।

इसी तरह कई घटनाएं आंध्र देश के प्रमुख शहरों में ग्रामीण इलाको में भी 40 50 मामले घटना क्रम मारपीट करना पर काटना डंडे मारना आम कार्यकर्ताओं को परेशान करना इनकी प्रामाणिक तो पर सही पत्रकारों को वीडियो और फोटो वायएसआर पार्टी के तरफ से वितरण किया .
जिसके अलावा गुंटूर में एक पार्टी कार्यकर्ता के हाथ काट दिए और सिर पे भी भारी गांव बनाया एक तीसरी घटना आंध्र देश के 
नुजवीङ विधानसभा क्षेत्र के प्रमुख शहर के पास दो पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने आपस में मारकाट किया वह असर कार्यकर्ता को खुदा खुद आकर चूड़ियों से डिश तीस मार किया पुलिस खड़ी रही देखती रही लेकिन कुछ नहीं कर पाया सब्जी कर्मचारी से पुलिस विभाग के कर्मचारी से पूछा तो बताया कि हमें शक्त कार्रवाई करने का देसी प्राप्त नहीं है लेकिन अचानक हुआ हम भी खुश नहीं कर सकते 

राज्यसभा सदस्य और विधायकों ने गवर्नर को ज्ञापन सोते हुए कहा कि राज में शांति भंग करने में तेलुगु जैसल जनसेवा पार्टी की प्रमुख कार्यकर्ताओं नेताओं का शरण है तत्काल इसमें पाबंदी पाया जाए वरना और बड़ी यकीन सकती है और इसी शिकायत की प्रति देश के राष्ट्रपति को गृहमंत्री को और चुनाव आयोगको भी प्रेषित किया गया