इंडी गठबंधन अवसरवादी व स्वार्थी गठबंधन : टंडन
BREAKING
जम्मू-कश्मीर में सेना ने आतंकियों का बड़ा हमला रोका; फटाफट एक्शन में आए जवान, ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं, एनकाउंटर जारी सुप्रीम कोर्ट से योगी सरकार को बड़ा झटका; दुकानों पर 'नेम प्लेट' लगाने वाले आदेश पर रोक लगाई, UP समेत 3 राज्यों को नोटिस जारी RSS की गतिविधियों में अब शामिल हो सकेंगे सरकारी कर्मचारी; केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, 58 साल पुराना प्रतिबंध हटाया, कांग्रेस हमलावर "ढाई घंटे तक देश के प्रधानमंत्री का गला घोंटा गया''; संसद के बजट सत्र पर PM मोदी का बयान, पहले ही दिन विपक्ष पर जमकर बरसे चमत्कारिक है भगवान शिव का यह नाम जप; प्रेमानंद महाराज ने बताया- कैसे दिखाता है प्रभाव, महादेव के इस मंत्र को न जपने की दी चेतावनी

इंडी गठबंधन अवसरवादी व स्वार्थी गठबंधन : टंडन

Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024

चंडीगढ़, 17 मई। Lok Sabha Election 2024: भाजपा के लोकसभा उम्मीदवार संजय टंडन ने इंडी गठबंधन को अवसरवादी और स्वार्थी करार देते हुए कहा कि इससे चंडीगढ़ की जनता को धोखा ही मिलेगा। इंडी गठबंधन केवल सत्ता की लालसा में स्वार्थ की राजनीति कर रहा है।   

संजय टंडन ने यह टिप्पणी सेक्टर-27 में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए की। उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र-2 में आयोजित सार्वजनिक बैठक में भी आप और कांग्रेस पर तीखे वार किए।

उन्होंने कहा कि पंजाब में आप और कांग्रेस एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं तो चंडीगढ़ के लोगों को धोखा देने के लिए स्वार्थों का गठबंधन बनाया है। टंडन यहीं नहीं रूके उन्होंने कहा कि इंडी गठबंधन ने देश के विकास को लेकर कोई कॉमन मिनिमन प्रोग्राम नहीं है, उनके सभी नेता प्रधानमंत्री की कुर्सी पर नजर गड़ाए हुए हैं। टंडन ने कहा, कांग्रेस और आप दोनों में भाजपा से मुकाबला करने के लिए आत्मविश्वास की कमी है और उन्हें मतदाताओं का भरोसा और विश्वास हासिल नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा की जबरदस्त लोकप्रियता के सामने कांग्रेस और आप दोनों को 2014 और 2019 में पटखनी मिली थी। बार-बार हार से आप और कांग्रेस बौखलाई हुई है, इसलिए उन्होंने चंडीगढ़ में एक दूसरे के साथ हाथ मिलाया तो पंजाब और अन्य स्थानों पर एक दूसरे के आमने-सामने हैं।

10 वर्षों में विकास की बुलंदियों पर पहुंचा देश

संजय टंडन ने जनसभा के दौरान मोदी सरकार के 10 साल के कार्यकाल की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कहा कि 10 वर्षों में देश के विकास की बुलंदियों  को छुआ है। आयुष्मान भारत, जन धन योजना, पीएम आवास योजना, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया से देश में बड़ा बदलाव आया है। यही कारण है कि आज मोदी की गारंटी के साथ जनता की गारंटी है। आगामी पांच वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश सशक्त बनेगा और योजनाओं में ज्यादा पारदर्शिता आएगी। उन्होंने लोगों से विकास के पहिये को रफ्तार देने के लिए भाजपा सरकार को वोट देने का आग्रह किया।

आधे नेता जेल में आधे बेल पर

विपक्ष पर हमला बोलते हुए संजय टंडन ने कहा कि “इस ठग बंधन का न्यूनतम साझा कार्यक्रम भ्रष्टाचार पर आधारित है। उनके आधे नेता पहले से ही जेल में हैं और बाकी जमानत पर हैं। उन्होंने हैरानी जताई कि आप पार्टी की उत्पत्ति कांग्रेस पार्टी के खिलाफ भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से हुई है। मगर अब दोनों पार्टियों का उद्देश्य भ्रष्टाचार को बढ़ावा देना है, दिल्ली सीएम का जेल जाना इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए दोनों पार्टियां एक दूसरे के साथ आई हैं, लेकिन मोदी जनसमर्थन के साथ तीसरी बार प्रधानमंत्री बनेंगे।

'तिवारी ने स्वीकार किया आचार संहिता का उल्लंघन'

संजय टंडन ने इस दौरान कांग्रेस उम्मीदवार पर आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी मनीष तिवारी द्वारा मतदाताओं को प्रलोभन देना और आचार संहिता के उल्लंघन के बाद जवाब देना यानी वे खुद स्वीकार कर रहे हैं कि उन्होंने प्रलोभन दिया है। संजय टंडन ने कहा कि  कांग्रेस की मंशा हमेशा मतदाताओं को प्रलोभन देकर वोट हथियाने की रही है, जबकि भाजपा लोकतंत्र में विश्वास रखती है। मनीष तिवारी द्वारा स्वयं ही अपराध मानने के बाद उन्हें चुनाव लड़ने का कोई अधिकार नहीं है, क्योंकि चुनाव जनसमर्थन के साथ लड़ा जाता है, न कि प्रलोभन के साथ।

भाजपा प्रत्याशी ने  दावा कि कांग्रेस प्रत्याशी अब चालाकी दिखा रहे हैं कि उनके निर्देश सिर्फ कार्ड बांटने के थे, न कि मतदाताओं का व्यक्तिगत डाटा एकत्रित करना था। मनीष तिवारी द्वारा दिया गया जवाब तथ्यों से परे है, सवाल यह उठता है कि कार्ड किस उद्देश्य से बांटे जा रहे थे। यही नहीं वीडियो में साक्ष्य हैं कि कार्ड बांटने वाले मतदाताओं को आर्थिक लाभ के लिए व्यक्तिगत जानकारी के साथ कार्ड भरे गए थे। उन्होंने तमाम पहलुओं और तथ्यों के आधार पर तिवारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।