Personal Loan लेते समय भूल से भी कर दी ये चूक, तो बाद में पछताना पड़ेगा, जानें कौन सी सावधानियां बरतना जरूरी
Personal Loan

Personal Loan लेते समय भूल से भी कर दी ये चूक, तो बाद में पछताना पड़ेगा, जानें कौन सी सावधानियां बरत

Personal Loan लेते समय भूल से भी कर दी ये चूक, तो बाद में पछताना पड़ेगा, जानें कौन सी सावधानियां बरतना जरूरी

नई दिल्ली। Personal Loan अचानक आए खर्चों को पूरा करने का सबसे अच्छा जरिया है। इसकी मदद से आप अपने घर के रिनोवेशन, बच्चों की पढ़ाई, शादी और विदेशों में घूमने जैसे सपनों को आसानी से पूरा कर सकते हैं। बड़ी बात यह है कि पर्सनल लोन बैंकों की ओर से केवल उन्हीं ग्राहकों को दिया जाता है, जिनकी साख बैंक की नजर में अच्छी होती है और वे बैंक के सभी पैमानों पर खरे उतरते हैं।

ऐसे में आपको उन सभी पैमानों को जानना चाहिए, जिसकी मदद से बैंक की नजर में आप अपनी साख अच्छी बना सकते हैं। आज हमको वो पांच बातें बताने जा रहे हैं, जिससे पर्सनल लोन मिलने की संभावना को बढ़ाती है।

1.क्रेडिट स्कोर

क्रेडिट स्कोर आपके वित्तीय लेन-देन की सही रिपोर्ट बैंक के सामने प्रस्तुत करता है। इसकी मदद से बैंक अपने ग्राहक की क्रेडिट क्षमता को जान पाता है। अगर आपका क्रेडिट स्कोर 750 से अधिक है, तो आपके लोन आवेदन के क्लियर होने की संभावना अधिक हो जाती है।

2.लोन की राशि

किसी भी लोन आवेदन में बैंक सबसे ज्यादा ध्यान ग्राहक की ओर से मांगी गई राशि पर देते हैं। अगर आप अपनी वित्तीय क्षमता के अनुसार एक उचित राशि का लोन आवेदन करते हैं, तो इसके क्लियर होने की संभावना अधिक हो जाएगी।

3.एक साथ के अधिक लोन

अगर आपके ऊपर पहले से ही कोई लोन चल रहा है, तो बैंक की ओर से आपकी लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। ऐसे में आपको अपने पहले लोन को समाप्त करके ही दूसरे लोन के लिए आवेदन करना चाहिए।

 

4.किसी और को भी साथ जोड़ें

अगर आप अपने घर के किसी अन्य कमाने वाले व्यक्ति के साथ मिलकर बैंक में पर्सनल लोन के लिए संयुक्त आवेदन देते हैं, तो आपकी लोन एप्लीकेशन के स्वीकार होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। इसके पीछे की बड़ी वजह यह है कि बैंक आपके साथ-साथ सह-उधारकर्ता की क्रेडिट क्षमता को जोड़ता है और आप बैंक की नजर में अधिक विश्वासत आवेदनकर्ता बन जाते हैं।

5.अपनी सभी आय के स्रोतों के बारे में बताएं

जब भी आप लोन के लिए आवेदन करते हैं तो बैंक हमेशा इस बात को पुख्ता करना चाहता है कि आप लोन वापस कर पाएंगे या नहीं। ऐसे में अगर आप अपनी आय के सभी स्रोतों का विवरण अपने लोन आवेदन में देते हैं तो इससे आपका लोन आवेदन स्वीकार होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है।