Provisional posting to doctors

Provisional posting to doctors: हरियाणा में नहीं रहेगी डाक्टरों की कमी, सरकार ने 847 डॉक्टरों को दी

Provisional posting to doctors: हरियाणा में नहीं रहेगी डाक्टरों की कमी, सरकार ने 847 डॉक्टरों को दी प्रोवीजनल पोस्टिंग

चंडीगढ़।  Provisional posting to doctors: हरियाणा के सरकारी अस्पतालों में डाक्टरों की कमी नहीं रहेगी। सरकार ने शुक्रवार की रात एक आदेश जारी करके प्रदेश में आठ सौ से अधिक डाक्टरों की प्रोवीजनल पोस्टिंग(provisional posting) दे दी है। हरियाणा में लंबे समय से डाक्टरों की कमी बनी हुई है। पिछले सात वर्षों से प्रदेश सरकार डॉक्टरों की तैनाती में लगी हुई है। इससे पहले हुड्डा सरकार के दो कार्यकाल में भी डाक्टर पूरे नहीं हुए।

अप्रैल माह के दौरान 1252 डाक्टरों की भर्ती निकाली गई थी। दस अप्रैल को लिखित परीक्षा(Written exam) के बाद परिणाम जारी किया गया। अब सरकार ने 847 डॉक्टरों (मेडिकल ऑफिसर) को प्रदेश के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रोवीजनल पोस्टिंग दे दी है। अब इन डॉक्टरों की तैनाती के साथ ही अस्पतालों में इलाज के लिए आने वाले लोगों को काफी फायदा पहुंचेगा। 

दरअसल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए लगातार प्रयासरत थे। जिसे लेकर वह स्वास्थ्य विभाग(Health Department) के अधिकारियों संग बातचीत भी करते रहे थे। सरकार ने इस कमी को पूरा करने का जिम्मा रोहतक पीजीआईएमएस(Rohtak PGIMS) को सौंपा था। जिन्होंने परीक्षा के बाद स्वास्थ्य विभाग को सूची सौंप दी थी। अब करीब 847 डॉक्टरों को प्रोवीजनल नियुक्ति प्रदान कर दी है। इन सभी डाक्टरों को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार भत्तों के अलावा 56 हजार 100 रुपये प्रति माह वेतन दिया जाएगा। इन चिकित्सकों को जिला स्वास्थ्य केंद्रों, पीएचसी, सीएचसी आदि में तैनात किया जाएगा।