Fog increased the number of passengers in Shatabdi trains
BREAKING
Haryana: आसमानी बिजली गिरने से बाबैन के गांव खिड़की वीरान में खेत में सरसों काट रहे मां सरोज बाला व बेटे रमन सैनी की मौके पर हुई मौत BJP के लोकसभा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी; PM मोदी यहां से लड़ेंगे चुनाव? जानिए कहां से कौन उम्मीदवार खड़ा BJP के एक और सांसद ने सक्रिय राजनीति से संन्यास लिया; जेपी नड्डा को लिखा पत्र, इससे पहले गौतम गंभीर ऐसा ही कर चुके भारत में स्पेन की महिला का गैंगरेप; झारखंड में घूमने आई थी, रात में दरिंदों ने मारपीट कर जिस्म नोचा, अस्पताल में इलाज चल रहा युवराज सिंह ने कहा- मैं गुरदासपुर से चुनाव नहीं लड़ रहा; BJP के टिकट पर लड़ने की चर्चा थी, सनी देओल को साइड कर रही पार्टी

धुंध ने बढ़ाई शताब्दी ट्रेनों में यात्रियों की संख्या, सुपर फास्ट ट्रेनों में हो रही 70 फीसदी सीटों से ज्यादा बुक 

Fog increased the number of passengers in Shatabdi trains

Fog increased the number of passengers in Shatabdi trains

Fog increased the number of passengers in Shatabdi trains- चंडीगढ़ (साजन शर्मा)। मौसम के बदलाव ने लोगों के निजी वाहन से ट्रैवल करने पर रोक लगा दी है। इसकी वजह है हरियाणा समेत अन्य इलाकों में लगातार धुंध का गिरना। लोग धुंध की वजह से अपने वाहनों में ट्रेवल करने से कतरा रहे हैं। यही वजह है कि उन्होंने शताब्दी ट्रेनों का रुख किया है। लोगों को सर्दी के इस मौसम में ट्रेनों का सफर ज्यादा सुरक्षित लगता है।

ऐसा ट्रेनों में टिकट बुकिंग के एकदम बढ़े आंकड़े बयां कर रहे हैं। धुंध की शुरुआत होते ही सुपर फॉस्ट ट्रेनों में 70 फीसदी यात्री बुकिंग कराने लगे हैं। ट्रेन में दूसरी सुविधा लोगों को यह लगती है कि लोग जाम से भी परेशान नहीं होते। मौजूदा समय में चंडीगढ़ से हर तीन घंटे बाद नई दिल्ली के लिए सुपर फास्ट ट्रेन मिलती है। ऐसे में इन ट्रेनों में खासी भीड़ देखने को मिल रही है। चंडीगढ़ से दिल्ली के बीच पांच सुपरफास्ट ट्रेनें चलती हैं। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलने से शताब्दी के यात्रियों में कोई कमी नहीं आई है। सुपरफास्ट ट्रेनों में तीन घंटे का अंतराल रहने के कारण सभी सुपरफास्ट ट्रेनों की यात्रियों की निश्चित संख्या रहती है। इन ट्रेनों की औसतन 70 फीसद सीट बुक रहती है।

चंडीगढ़ से नई दिल्ली के बीच चलती हैं पांच सुपरफास्ट ट्रेनें

चंडीगढ़ से नई दिल्ली के बीच मौजूदा समय में पांच सुपरफास्ट ट्रेनें चलती हैं। इन सुपरफास्ट ट्रेनों में पहली कालका-नई दिल्ली शताब्दी ट्रेन (12006)चंडीगढ़ से सुबह 6.53बजे ,दूसरी ट्रेन ऊना नई दिल्ली जन शताब्दी ट्रेन (12058) सुबह 7.43 बजे, तीसरी ट्रेन चंडीगढ़ नई दिल्ली शताब्दी (12046) दोपहर 12 बजे,चौथी ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन दोपहर 3.30 बजे और पांचवी ट्रेन कालका -नई दिल्ली शताब्दी (12012) शाम 6.28 बजे और चंडीगढ़ से दिल्ली के लिए रवाना होती है।

वीकेंड में फुल रहती हैं शताब्दी ट्रेनें

मौसम में बदलाव का असर ट्रेन यातायात पर भी देखने को मिलता है। जैसे -जैसे धुंध बढ़ती चली जाएगी वैसे वैसे शताब्दी ट्रेनों में यात्री संख्या बढऩे की उम्मीद है। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि अभी धुंध ज्यादा पडऩा शुरू नहीं हुई है, बावजूद इसके शताब्दी ट्रेनों में यात्री संख्या बढऩा शुरू कर हो गई है। इसमें पांच से सात फीसद का इजाफा हुआ है।  चंडीगढ़ से जाने वाले शताब्दी ट्रेनों में 70 फीसद बुकिंग और ऊना जनशताब्दी 100 फीसद फुल जा रही है। वीकें ड पर वंदे भारत समेत सभी शताब्दी ट्रेनें वीकेंड में फुल रहती हैं।