हिमाचल में बाढ़ ने मचाई तबाही, किन्नौर में बादल फटा, घरों को छोड़ सुरक्षित स्थानों की ओर भागे लोग
हिमाचल में बाढ़ ने मचाई तबाही

हिमाचल में बाढ़ ने मचाई तबाही, किन्नौर में बादल फटा, घरों को छोड़ सुरक्षित स्थानों की ओर भागे लोग

हिमाचल में बाढ़ ने मचाई तबाही, किन्नौर में बादल फटा, घरों को छोड़ सुरक्षित स्थानों की ओर भागे लोग

शिमला। हिमाचल के किन्नौर जिले में बादल फटने से भारी तबाही हुई है। शालखार गांव में बादल फटने से आठ नालों में बाढ़ आ गई। देखते ही देखते पानी का सैलाब और मलबा घरों में जा घुसा। घरों की छतों से पानी टपक रहा है। लोग जान बचाकर सुरक्षित स्थानों की ओर भाग गए हैं। बस स्टैंड में बाढ़ आने कुछ गाड़ियां मलबे में दब गई हैं। बाढ़ से बगीचों को भी काफी नुकसान हुआ है। जलशक्ति विभाग की चार कूहलें और दो लोकल कूहलें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। क्षेत्र में भारी बारिश जारी है। अभी जानी नुकसान की कोई सूचना नहीं है। 


कड़छम बांध से छोड़ा 50 क्यूमेक्स पानी 
जिला किन्नौर के कड़छम बांध से सोमवार को 5:30 बजे रेडियल गेट और फ्लशिंग गेट से 83 क्यूमेक्स खोलकर 50 क्यूमेक्स पानी छोड़ा किया। बीते दिन भी 100 क्यूमेक्स पानी छोड़ा गया था। उधर, बरसात शुरू होने के बाद पिछले एक महीने से बांध का पानी छोड़ा जा रहा है। इससे किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है। यह जानकारी सुरक्षा प्रमुख एवं बांध अधिकारी नितिन गुप्ता ने दी। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे सतलुज नदी के पास न जाएं और दूसरों को भी इसकी सूचना