Firing exposed in gangster Bambiha's village: The family had fired bullets on its own to get an arms license
Firing exposed in gangster Bambiha's village: The family had fired bullets on its own to get an arms

Firing exposed in gangster Bambiha's village: The family had fired bullets on its own to get an arms

गैंगस्टर बंबीहा के गांव में फायरिंग का खुलासा: आम्र्स लाइसेंस बनवाने के  लिए परिवार के खुद ही चलवाई थी गोलियां

चंडीगढ़। मोगा में गैंगस्टर दविंदर बंबीहा के गांव बंबीहा में फायरिंग में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। किसान के परिवार ने ही अपने घर पर गोलियां चलवाई थी। आर्म्स लाइसेंस बनवाने के लिए यह पूरी साजिश रची गई थी। जिसके बाद कहानी रची गई कि लॉरेंस गैंग के गोल्डी बराड़ ने फिरौती न देने पर यह फायरिंग करवाई है।

पुलिस ने आरोपी किसान और उसके बेटे को हिरासत में ले लिया है। यह दोनों पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के बाद आमने-सामने हुए गैंगस्टर लॉरेंस और बंबीहा गैंग की दुश्मनी का फायदा उठाना चाहते थे।

सूत्रों के मुताबिक तरलोचन सिंह और उसके बेटे ने आर्म्स लाइसेंस के लिए अप्लाई किया था। इसे मंजूरी मिल जाए, इसलिए परिवार ने यह साजिश रची। उन्होंने धमकी की बात कहकर खुद ही घर पर फायरिंग करवा दी। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो घर में लगी गोलियां देखकर पुलिस को शक हो रहा था। पुलिस ने सीसीटीवी भी खंगाले लेकिन वहां से भी कुछ नहीं मिला। जिसके बाद पुलिस का शक और ब? गया। किसान ने कहा था कि हमलावर कार से आए थे लेकिन पुलिस को वहां से ऐसा कोई सबूत नहीं मिला। वहीं किसान बहुत अमीर नहीं है और न ही ज्यादा जमीन है, इसे देखते हुए पुलिस ने जांच शुरू की तो पूरा मामला बेनकाब हो गया।

किसान तरलोचन सिंह ने कहा था कि उन्हें कुछ दिन पहले विदेशी नंबर से वॉट्सऐप कॉल आई थी। जिसमें उनसे 5 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई थी। जिसके बारे में किसान ने पुलिस को शिकायत दे दी। पुलिस इसकी जांच कर ही रही थी कि 2 दिन पहले तडक़े करीब 3 बजे किसान के घर पर फायरिंग हो गई। यह गोलियां घर के दरवाजे और दीवार पर लगे। हालांकि घर में किसी को नुकसान नहीं हुआ था।