हरियाणा के दिग्गज कारोबारी की यमुनानगर में मिली लाश: न ड्राइवर, न एक भी गनमैन, अकेले घर से निकले थे, गाड़ी कई किलोमाटर दूर मिली
Famous Businessman Dead Body Found in Yamunanagar Haryana

Famous Businessman Dead Body Found in Yamunanagar Haryana

हरियाणा के दिग्गज कारोबारी की यमुनानगर में मिली लाश: न ड्राइवर, न एक भी गनमैन, अकेले घर से निकले थे, गाड़ी कई किलोमीटर दूर मिली

Famous Businessman Dead Body Found in Yamunanagar Haryana : हरियाणा के यमुनानगर में एक दिग्गज कारोबारी की लाश मिलने से हड़कंप मच गया है| कारोबारी का नाम राजिंदर चौधरी है| राजिंदर चौधरी एक नामी ट्रांसपोर्ट कारोबारी थे| राजिंदर चौधरी की लाश धौलरा नहर के पास पड़ी पाई गई है| इधर, राजिंदर चौधरी की मौत इस समय एक अनसुलझी गुत्थी बनी हुई है| मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज आगे की शुरुवाती कार्रवाई शुरू कर दी है|

पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है| जिसके बाद पुलिस हर पहलु को लेकर जांच-पड़ताल करेगी| पोस्टमार्टम रिपोर्ट और आगे की जांच से ही यह क्लियर हो पायेगा कि राजिंदर चौधरी के साथ आखिर क्या हुआ है? उनकी रंजिशन हत्या की गई है या फिर यह हादसा या आत्महत्या है| फिलहाल, जो भी हो राजिंदर चौधरी की मौत से यमुनानगर में काफी हलचल है| राजिंदर चौधरी को लोग काफी मानते थे| उनकी मौत से जहां उनके परिवार में मातम है तो वहीं कई लोग भी काफी दुखी हैं|

लाश से गाड़ी कई किलोमीटर दूर मिली

मिली जानकारी के मुताबिक, राजिंदर चौधरी बीती रात को अपने आवास से निकले थे| हैरानी की बात यह है कि इस बार राजिंदर चौधरी न तो अपने साथ ड्राइवर को ले गए और न ही एक भी गनमैन को| बताया जाता है कि, राजिंदर चौधरी जब भी कहीं जाते थे तो उनके साथ उनका ड्राइवर और कई गनमैन साथ में होते थे| मगर बीती रात वह अकेले ही निकले| इधर, राजिंदर चौधरी के घर से अकेले रात में निकलने के बाद जब वह काफी देर तक घर नहीं लौटे और उनसे संपर्क नहीं हो पाया तो घर वालों को चिंता हुई और राजिंदर चौधरी की खोज शुरू की गई|

जब राजिंदर चौधरी को खोजा गया तो अचानक से उनकी गाड़ी दिखी| जो कि अमीदा यमुना हेड के पास खड़ी हुई थी| जब पास जाकर देखा तो गाड़ी खुली हुई थी| मगर उसमें राजिंदर चौधरी नहीं थे| यह देख सब घबरा गए| इसके बाद राजिंदर चौधरी की तलाश और तेज हुई| जिसके बाद धौलरा नहर के नजदीक राजिंदर चौधरी की लाश पड़ी मिली| बताया जाता है कि, लाश और गाड़ी के बीच का फासला चार से पांच किलोमीटर का था|

पंजाब से हरियाणा आकर किया कारोबार

राजिंदर चौधरी के बारे में बताते हैं कि, उन्होंने पंजाब से हरियाणा आकर कारोबार किया| जब वह पंजाब से आये थे तो काफी गरीब थे| राजिंदर चौधरी ने मेहनत के बल पर सफलता की इबारत लिखी और एक सफल कारोबारी बने|

रिपोर्ट - राकेश भारतीय